जौनपुर : राज कालेज की वार्षिक पत्रिका ‘‘सृजन‘‘ का हुआ भव्य विमोचन

जौनपुर : राज कालेज की वार्षिक पत्रिका ‘‘सृजन‘‘ का हुआ भव्य विमोचन

जौनपुर।
विश्व प्रकाश श्रीवास्तव
तहलका 24×7
                 लौह पुरुष सरदार वल्लभ भाई पटेल की जयंती की पूर्व संध्या पर शहर के प्रसिद्ध व प्राचीन कॉलेज राजा श्रीकृष्ण दत्त स्नातकोत्तर महाविद्यालय राज कॉलेज जौनपुर की वार्षिक पत्रिका “सृजन” 2021 का विमोचन राजमहल के प्रांगण (हवेली, राजा जौनपुर) में किया गया। यह कार्यक्रम गणमान्य जन प्रतिनिधियों, जौनपुर के विभिन्न इंटर व डिग्री कॉलेजों के प्राचार्यो, ख्यातिलब्ध विद्वानों व शिक्षक संघ के पदाधिकारियों की उपस्थिति में संपन्न हुआ।इसके पूर्व मां सरस्वती, राजा श्रीकृष्ण दत्त, राजा यादवेन्द्र दत्त एवं सरदार वल्लभ भाई पटेल के चित्र पर माल्र्यापण व दीप प्रज्ज्वलन एवं डाॅ गंगाधर शुक्ला व डाॅ मृत्युन्जय मिश्रा द्वारा सस्वर मंत्रोच्चार द्वारा कार्यक्रम का शुभारम्भ किया गया।

तत्पश्चात कार्यक्रम के बतौर प्रमुख अतिथि जगदीश नारायण राय पूर्व कैबिनेट मंत्री उप्र, डाॅ हरेंद्र प्रताप सिंह विधायक जफराबाद, सुरेंद्र सिंह पूर्व ब्लाक प्रमुख, प्रोफेसर आर.एन. त्रिपाठी लोक सेवा आयोग सदस्य व प्रो. बनारस हिंदू विश्वविद्यालय, वाराणसी, बृजेश सिंह प्रिंसु एमएलसी, यादवेंद्र चतुर्वेदी वरिष्ठ अधिवक्ता, विनीत सेठ गहना कोठी, कर्नल रामदास द्विवेदी का महाविद्यालय के प्राचार्य एवं प्राध्यापकों द्वारा माल्र्यापण व प्रतीक चिन्ह देकर स्वागत व सम्मान किया गया।डाॅ सुनीता गुप्ता ने पत्रिका “सृजन” 2021 की आख्या प्रस्तुत करते हुए बताया कि इस पत्रिका का प्रकाशन सन 2008 से किन्ही कारणों से नहीं हो पा रहा था।

पत्रिकाएं महाविद्यालय का दर्पण होती है, जो महाविद्यालय की शिक्षा, गुणवत्ता व सृजनात्मकता का प्रदर्शन करती है। इसलिए इसकी आवश्यकता को ध्यान में रखते हुए महाविद्यालय के प्राचार्य कैप्टन डॉ. अखिलेश्वर शुक्ला द्वारा पदभार ग्रहण करने के उपरांत ही पत्रिका प्रकाशित करने का निर्णय लिया गया और पत्रिका समिति का गठन कर प्रकाशन की जिम्मेदारी डाॅ सुधा सिंह, मुख्य अनुशास्ता को दी गयी और उनके द्वारा इस कार्य को तत्परता से पूर्ण किया गया।डॉ लालसाहब द्वारा महाविद्यालय की स्थापना से लेकर वर्तमान स्वरूप तक की उत्तरोत्तर विकास की आख्या प्रस्तुत किया गया।कार्यक्रम के अंत में उपस्थित गणमान्य जनों ने सरदार पटेल के व्यक्तित्व व कृतित्व पर तथा महाविद्यालय की उपलब्धियों एवं संस्थापक राजा यादवेन्द्र दत्त जी के राष्ट्रीय स्तर पर योगदान की चर्चा करते हुए पत्रिका के महत्व पर प्रकाश डाला।

नारी शक्ति स्वरूपा महाविद्यालय की समस्त प्राध्यापिकाओं डाॅ0 ज्योत्सना श्रीवास्वत, डाॅ0 सुधा सिंह, डाॅ0 अनामिका सिंह, डाॅ0 सुनीता गुप्ता, डाॅ0 अनीता सिंह, डाॅ0 नीता सिंह, डाॅ0 गगनप्रीत कौर, डाॅ0 मधु पाठक, डाॅ0 रागिनी राय, डाॅ0 गुंजन मिश्रा, डाॅ0 नमिता श्रीवास्तव, को प्रतीक चिन्ह से सम्मानित किया गया एवं महाविद्यालय के प्राध्यापक रहे डाॅ0 अभय प्रताप सिंह, को ए0पी0एन0 कालेज, बस्ती एवं मड़ियाहू पी0जी0 कालेज, के डाॅ0 एस0के0 पाठक को नव नियुक्त प्राचार्य पर चयनित होने पर प्रतीक चिन्ह प्रदान कर उनका सम्मान किया गया। मुख्य अतिथि एवं गणमान्य अतिथियों को धन्यवाद ज्ञापित करते हुए प्राचार्य कैप्टन (डाॅ0) अखिलेश्वर शुक्ला ने कहा कि भारतीय संस्कृति एवं परम्परा में अतिथि को देवता के समान (अतिथि देवो भवः) माना जाता है साथ ही कहा कि आज के इस कार्यक्रम में यह स्पष्ट है कि व्यक्ति को केवल वाणी से नहीं बल्कि उनके व्यवहार एवं प्रस्तुति से समझा जा सकता है।

कार्यक्रम का संचालन डॉ0 मधु पाठक और डॉ0 सुनीता गुप्ता ने किया। इस कार्यक्रम में श्री महेन्द्र नाथ सेठ (श्री बालाजी ज्वेलर्स) ऋषिकेश द्विवेदी (ऋषिकुल एकेडमी), श्याम नारायण मिश्रा (श्याम गुरू) डॉ0 मयानंद उपाध्याय, डॉ0 अवधेश द्विवेदी, डॉ0 अखिलेश कुमार गौतम, डाॅ0 मनोज वत्स, डाॅ0 श्यामसुन्दर उपाध्याय, डाॅ0 विजय प्रताप तिवारी, डाॅ0 ओमप्रकाश दूबे, डाॅ0 यदुवंश कुमार, डाॅ0 संतोष कुमार पाण्डेय, डाॅ0 राजेश प्रसाद तिवारी, डाॅ0 अजय मिश्रा, डाॅ0 नीशिथ कुमार सिंह डाॅ0 धर्मवीर सिंह, डाॅ0 विवेक यादव, डाॅ0 चन्द्राम्बुज कश्यप, डाॅ0 राजेन्द्र सिंह, डाॅ0 अतुल श्रीवास्तव, डाॅ0 सुधाकर शुक्ला, डाॅ0 आशीष कुमार शुक्ला, डाॅ0 अनिल मौर्य, डाॅ0 अवनीश मिश्रा, सुधाकर मौर्य, संजय सिंह, स्वयं यादव, सहित महाविद्यालय के समस्त प्राध्यापक व प्राध्यापिकायें तथा समस्त गैर शैक्षणिक कर्मचारी उपस्थित रहे।
Previous articleजौनपुर : राष्ट्रीय एकता एवं अखण्डता की पुलिसकर्मियों ने ली शपथ
Next articleजौनपुर : मदर निसा फाउंडेशन ने किया डॉ सिद्धार्थ को सम्मानित
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏