जौनपुर : लखीमपुर वीभत्स काण्ड के विरोध में आप पार्टी ने किया धरना-प्रदर्शन

जौनपुर : लखीमपुर वीभत्स काण्ड के विरोध में आप पार्टी ने किया धरना-प्रदर्शन

जौनपुर।
विश्व प्रकाश श्रीवास्तव
तहलका 24×7
                  लखीमपुर खीरी में कृषि कानूनों के विरोध में प्रदर्शन कर रहे चार किसानों की केंद्रीय राज्य मंत्री के समर्थकों के वाहन द्वारा रौंदकर की गई हत्या के विरोध में आम आदमी पार्टी ने जिला मुख्यालय पर जोरदार प्रदर्शन किया व महामहिम राज्यपाल को सम्बोधित ज्ञापन प्रशासन को सौंपा।
इस दौरान आम आदमी पार्टी के जिलाध्यक्ष सूर्य नारायण सिंह मुन्ना ने कहा कि पिछलेे 10 महीने से देश का अन्‍नदाता क‍िसान धरने पर बैठे है, 650 क‍िसानों ने आत्‍महत्‍या की, कड़कड़ाती ठंड से मरे, या गोल‍ियों से भून द‍िया गये है। देश की सरकार से उनकी एक ही मांग है क‍ि इन तीनों काले कानूनों को वापस ल‍िया जाए। दरअसल, ये काले कानून क‍िसानों की मौत का फरमान है और कल की दुर्भाग्यपूर्ण घटना इसी एक अंश है। जिला महासचिव विनोद प्रजापति ने कहा इन कानूनों के तहत की गई कांट्रैक्ट फार्मिंग की व्यवस्था से एक तरह से जमींदारी प्रथा की फिर से वापसी हो जाएगी।
किसान चाह कर भी अपने खेतों पर अपने मनमाफिक खेती नहीं कर सकेगा। इन कानूनों के आलोक में किसानों को अपनी फसल का न्यूनतम समर्थन मूल्य मिल पाना भी संभव नहीं दिख रहा। इन्हीं आशंकाओं को लेकर देशभर में अन्नदाता इन कानूनों का विरोध कर रहे हैं। किसान अपने अधिकारों को सुनिश्चित करने के लिए लड़ रहे हैं, लेक‍िन केंद्र सरकार इन क‍िसानों के संघर्ष का सम्मान करने की जगह उन्हें खाल‍िस्‍तानी, पाक‍िस्‍तानी, गुंडा और मवाली कहकर लगातार अपमानित करने का काम कर रही है। कभी उनके सामने कंटीले तार लगाए जाते हैं, तो कभी लाठियां बरसा कर उनके आंदोलन को दबाने की कोशिश हो रही है।
केंद्रीय मंत्री की धमकी से गुस्साए क‍िसानों ने उनके गांव में आयोजित उप मुख्यमंत्री के कार्यक्रम के मौके पर शांतिपूर्वक विरोध प्रदर्शन करने की घोषणा की थी। किसान विरोध जताने के लिए जब जमा थे तभी केंद्रीय राज्य मंत्री के समर्थकों की गाड़ियों का काफिला उनके बीच से गुजरा जिसमें एक वाहन द्वारा दुस्साहसिक ढंग से प्रदर्शनकारियों को कुचल दिया गया। किसान प्रकोष्ठ जिलाध्यक्ष विजय गुप्ता ने कहा कि यह घटना अंग्रेजी शासन की जुल्म ज्यादती को भी पीछे छोड़ने वाली है।
आजादी के 75 साल बाद भारतीय जनता पार्टी के शासन में घटी इस घटना ने पूरे लोकतंत्र को शर्मसार कर दिया है। लग रहे आरोपों के मुताबिक 4 क‍िसानों को केंद्रीय मंत्री के बेटे द्वारा अपनी गाड़ी से रौंदकर मार देना, उसकी न‍िगाह में क‍िसान की कीमत जानवर से भी कमतर होने का बोध कराता है। ऐसा प्रतीत होता है कि उसकी नजरों में देश के अन्‍नदाताओं की कीमत क‍िसी भुनगे से ज्‍यादा नहीं है। इस दिल दहला देने वाली घटना से पूरा देश सन्न है।

प्रदर्शन के बाद आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने दो मिनट मौन रखकर लखीमपुर खीरी में मृतक किसानों को श्रद्धांजलि दी। इस अवसर पर अमरनाथ यादव, मोहम्मद गालिब, राजेंद्र कुमार सिंह, त्रिलोकी नाथ मिश्रा, इसरार अहमद, दिलीप सिंह आदि उपस्थित रहे।
Previous articleजौनपुर : लखीमपुर खीरी काण्ड से आक्रोशित प्रसपा ने किया धरना-प्रदर्शन, सौंपा ज्ञापन
Next articleजौनपुर : सड़क दुर्घटना में दो लोग गम्भीर रूप से घायल
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏