जौनपुर : शाहगंज में पहली बार एससी को ब्लाक प्रमुख बनने का मिलेगा अवसर

जौनपुर : शाहगंज में पहली बार एससी को ब्लाक प्रमुख बनने का मिलेगा अवसर

खेतासराय।
अज़ीम सिद्दीकी
तहलका 24×7
                ब्लाक प्रमुख पद की आरक्षण सूची जारी होते ही अटकलों का दौर थम गया। आरक्षण सूची जारी होते ही शाहगंज ब्लाक में प्रमुख पद के दावेदार प्रमुख की कुर्सी तक पहुंचने के लिए चुनाव में जुट गए हैं। अब तक हुए पंचायत चुनावों के बाद पहली बार प्रमुख पद के लिए शाहगंज ब्लाक अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित हूआ है।

पंचायती राज गठन के बाद शाहगंज ब्लाक का इतिहास उठाकर देखा जाय तो दीप नारायण सिंह पहली बार यहां के प्रमुख बने। सन 1973 तक लगातार वह प्रमुख पद का चुनाव जीत कर अपने दायित्वों का निर्वहन करते रहे। सन 1973 में दीप नारायण सिंह को पराजित कर ईश नारायण यादव प्रमुख बने और 23 वर्षों तक लगातार प्रमुख पद का चुनाव जीतते रहे। सन 1996 में पासा पलटा तो इंद्रदेव यादव चुनाव जीतकर पांच वर्ष तक प्रमुख रहे। 23 जनवरी 2001 को अनवर आलम ने प्रमुख की कुर्सी संभाली। दो वर्ष बाद उनके खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाया गया जिसमें वह हार गए और 19 अगस्त 2003 को मो. अनस खान 10 माह 20 दिन के लिए कार्यवाहक प्रमुख बने।

अविश्वास प्रस्ताव के बाद चुनाव हुआ तो 10 जुलाई 2004 को इंद्रदेव यादव दोबारा प्रमुख बने। 17 मार्च 2006 को इनका कार्यकाल खत्म हो गया। वर्ष 2005 पंचायत चुनाव में यहां का प्रमुख पद महिला के लिए आरक्षित हो गया। पूर्व प्रमुख ईश नारायण यादव की बहू सरिता यादव 18 मार्च 2006 को प्रमुख बनी। 2010 के पंचायत चुनाव में यहां की सीट पिछड़ी जाति महिला के लिए आरक्षित हो गई। 18 मार्च 2011 को पूर्व प्रमुख इंद्रदेव यादव की पत्नी संगीता यादव प्रमुख बनीं। लेकिन राजनीतिक खेल के आगे एक वर्ष सात माह से अधिक अपनी कुर्सी संभाल नहीं पाई।

अपने खिलाफ लाए गए अविश्वास प्रस्ताव में वह हार गई और 20 अक्टूबर 2012 को पूर्व मंत्री व शाहगंज विधायक शैलेन्द्र यादव की भयेहू नीलम यादव प्रमुख बनीं लगभग चार साल बाद कार्यकाल खत्म हुआ तो 2015 के पंचायत चुनाव में यहां की सीट फिर अनारक्षित हो गई और पूर्व प्रमुख ईश नारायण यादव के पुत्र मनोज कुमार यादव गल्लू चुनाव जीतकर प्रमुख बने। इतने वर्षों तक लगातार पंचायत चुनाव में शाहगंज ब्लाक का प्रमुख पद अनुसूचित जाति के लिए कभी आरक्षित नहीं हुआ। इस बार ऐसा पहली बार ऐसा हुआ कि शाहगंज ब्लाक का प्रमुख पद एससी के लिए आरक्षित हुआ। और अनुसूचित जाति के उम्मीदवारों को प्रमुख बनने का अवसर मिला है।
Feb 13, 2021

Previous articleजौनपुर : बाइक और साइकिल की टक्कर में छात्रा समेत दो घायल
Next articleजौनपुर : दीक्षांत समारोह का पूर्वाभ्यास 15 फ़रवरी को
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏