जौनपुर : शिक्षक के आकस्मिक निधन पर आर्थिक सहयोग करेगी टीचर्स सेल्फ केयर टीम- अरविन्द

जौनपुर : शिक्षक के आकस्मिक निधन पर आर्थिक सहयोग करेगी टीचर्स सेल्फ केयर टीम- अरविन्द

जौनपुर।
विश्व प्रकाश श्रीवास्तव
तहलका 24×7
              उत्तर प्रदेश में प्राथमिक शिक्षक के आकस्मिक निधन पर आर्थिक सहयोग के लिए टीचर्स सेल्फ केयर टीम बनाई गयी है। संस्थापक विवेकानंद आर्य के द्वारा यह आर्थिक सहयोग की योजना पूरे प्रदेश में संचालित की जा रही है। प्रदेश के प्राथमिक शिक्षकों को एक मंच देने के लिए टेलीग्राम से जोड़ा गया। टेलीग्राम में 50 हजार शिक्षक अब तक जुड़ चुके हैं और 50 हजार में से 22 हजार लोग (TSCT) टीचर्स सेल्फ केयर टीम पर रजिस्टर्ड भी है।

यदि टीचर्स सेल्फ केयर टीम में रजिस्टर्ड किसी भी शिक्षक का आकस्मिक निधन हो जाता है “कोरोना कॉल में इसकी संख्या बहुत ज्यादा थी” जो लीगली ढंग से टीचर्स सेल्फ केयर टीम के नियमों को पूरा करता है उसका प्रदेश कोर कमेटी द्वारा जनपद के जिला संयोजक अरविंद यादव द्वारा स्थलीय निरीक्षण कराया जाता है उसके बाद मृतक शिक्षक की जो नामिनी होती हैं उनके एकाउंट को साइट पर अपलोड किया जाता है और लोगों से अनुरोध किया जाता है कि सभी लोग जो साइट से रजिस्टर्ड है उनके एकॉउंट में ₹100 /100 का सहयोग करते हैं।
इसी क्रम में जनपद के शिक्षक स्वर्गीय बलिराम उच्च प्राथमिक विद्यालय मुर्की ब्लॉक मुफ्तीगंज जनपद जौनपुर का कोरोना वायरस के संक्रमण से आकस्मिक निधन हो गया था। संस्थापक विवेकानंद आर्य से उनके परिवार के लोगों से बात भी कराई गयी। संस्थापक ने हर संभव मदद का वादा किया भरोसा दिलाया कि हम व हमारी टीम भविष्य में भी आपके परिवार के साथ सदैव खड़ी रहेगी।
उनकी पत्नी सुनीता देवी दो नन्हे मुन्ने बच्चे सुजल कुमार भास्कर उम्र 16 वर्ष, आयुष कुमार भास्कर उम्र 12 वर्ष स्वर्गीय बलिराम का निरीक्षण से यह विदित हुआ कि उनके सारे पेपर टीचर्स सेल्फ केयर टीम TSCTकी वैधानिकता पर खरे उतरे हैं अगले सहयोग में उनके नामिनी का अकाउंट नंबर जारी किया जाएगा अब तक हाल ही में 29 सदस्यों को जिन का आकस्मिक निधन हुआ है 5 करोड़ से ज्यादा आर्थिक सहयोग किया जा चुका है। टीम द्वारा प्रदेश में कोरोना काल में जितने भी शिक्षक का आकस्मिक निधन हुआ था लगभग प्रत्येक शिक्षक के नामनी को 18 से 22 लाख के बीच में आर्थिक सहयोग टीम द्वारा किया गया है।
Previous articleबसपा की ब्राह्मणों को साधने की तैयारी, अगुवाई करेंगे सतीश चंद्र मिश्रा
Next articleवाराणसी : डीएम ने बाढ़ प्रभावित इलाकों का किया दौरा
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏