जौनपुर : संक्रामक रोगों के बचाव हेतु जागरूकता टीम रवाना

जौनपुर : संक्रामक रोगों के बचाव हेतु जागरूकता टीम रवाना

# प्रधानाचार्य ने स्काउट के छात्रों को हरी झंडी दिखाकर किया रवाना

सुईथाकलां।
मो आसिफ
तहलका 24×7
                  स्थानीय विकास खंड के समोधपुर श्री गांधी स्मारक इंटर कॉलेज समोधपुर के प्रधानाचार्य विनोद सिंह ने आजाद दल स्काउट टीम को संक्रामक रोगों से बचाव व जागरूक करने के लिए आस-पास के क्षेत्रों के लिए हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।
प्रधानाचार्य ने क्षेत्रीय लोगों, छात्रों और छात्राओं को संक्रामक रोगों से बचने हेतु जागरूकता का संदेश देते हुए कहा कि मानव जीवन को अस्त व्यस्त तथा खतरों में डालने का प्रमुख कारण संक्रामक रोग हैं। ज़्यादा बीमारियाँ और मौतें इन बीमारियों से जुड़ी हुई हैं। इसका एक बड़ा कारण रहन-सहन के खराब हालात जिनमें अशुद्ध पेयजल, मल-मूत्र निकास की व्यवस्था न होना, कम पोषण और अच्छी स्वास्थ्य सेवाओं और शिक्षा का अभाव शामिल हैं। छूत/संक्रमण की बीमारियों में बहुत सारी खतरनाक और कम खतरनाक बीमारियाँ शामिल होती है। तपेदिक, कोढ़, एड्स, हैपेटाइटिस, टॉयफाइड आदि गम्भीर बीमारियां हैं।
दूसरी ओर मलेरिया, वायरस से होने वाला दस्त, निमोनिया, हैजा, डेंगू विभिन्न प्रकर की खॉंसी और जुकाम तीव्र बीमारियों की श्रेणी में आती हैं। उन्होंने छात्रों और छात्राओं को बताया कि स्वच्छता पर अधिक ध्यान देते हुए सावधान रहना चाहिए। भोजन करने से पहले साबुन से हाथ धोने तथा अपने आस-पास जलजमाव किसी कीमत पर ना होने दें। मच्छरदानी का प्रयोग करें। खुले में शौच करने न जाएं बल्कि शौचालय जाएं। इससे हम संक्रामक बीमारियों से बच सकते हैं।
संक्रामक रोगों से बचाव हेतु कॉलेज के शिक्षकों ने भी बच्चों को दवा पिलाकर संक्रामक रोगों से बचने के लिए जागरूक किया। कार्यक्रम का संचालन स्काउट मास्टर राम बख्श सिंह ने किया। स्काउट के छात्रों ने आस-पास के चौराहों तथा क्षेत्रों में जाकर लोगों को जागरूक किया। छात्रों ने तख्ती पर जागरूकता संदेश व विभिन्न प्रकार के स्लोगन के माध्यम से लोगों को छुआछूत की बीमारियों से रोकथाम व बचाव के बारे में जागरूक किया। इस अवसर पर विद्यालय के अध्यापक गण शीतला प्रसाद उपाध्याय, संतोष कुमार सिंह, विनय कुमार त्रिपाठी, धर्मदेव शर्मा, सियाराम उपाध्याय सहित जय प्रकाश वर्मा, महेंद्र कुमार तिवारी आदि शिक्षणेत्तर कर्मचारी उपस्थित रहे।
Previous articleजौनपुर : निविदा लाइन मैन के निधन पर परिजनों को 50 हजार की आर्थिक मदद
Next articleजौनपुर : बाराबंकी के अधिवक्ता की हत्या पर अधिवक्ताओं में रोष, सौंपा ज्ञापन
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏