जौनपुर : सप्त दिवसीय श्रीमद् भगवत गीता कथा का हुआ समापन

जौनपुर : सप्त दिवसीय श्रीमद् भगवत गीता कथा का हुआ समापन

शाहगंज।
अनूप जायसवाल
तहलका 24×7
                 क्षेत्र के गोड़िला फाटक बाजार में चल रहे श्रीमद् भागवत गीता कथा का शनिवार देर शाम को समापन हुआ। उमर्दा कन्नौज से आये कथाव्यास सुशील अवधी महाराज ने कहा कि हृदय में भगवान का निवास होता है, इसलिए हृदय को कामनाओं और वासनाओं से सुरक्षित रखना चाहिए। गत सात दिनों तक भगवान श्रीकृष्ण जी के वात्सल्य प्रेम, असीम प्रेम के अलावा उनके द्वारा किए गए विभिन्न लीलाओं का वर्णन कर वर्तमान समय में समाज में व्याप्त अत्याचार, अनाचार, कटुता, व्यभिचार को दूर कर सुंदर समाज निर्माण के लिए युवाओं को प्रेरित किया।

इस धार्मिक अनुष्ठान के अंतिम दिन भगवान श्रीकृष्ण के सर्वोपरि लीला श्रीरास लीला, मथुरा गमन, दुष्ट कंस राजा के अत्याचार से मुक्ति के लिए कंसवध, कुबजा उद्धार, रुक्मणी विवाह, शिशुपाल वध एवं सुदामा चरित्र का वर्णन कर लोगों को भक्तिरस में डुबो दिया। इस दौरान भजन गायक साधना शास्त्री ने उपस्थित लोगों को ताल एवं धुन पर नृत्य करने के लिए विवश कर दिया। इस सात दिवसीय भागवत कथा में आस-पास गांव के अलावा दूर दराज से काफी संख्या में महिला-पुरुष भक्तों ने इस कथा का आनंद उठाया।

प्रवचन के बाद भक्तों के बीच प्रसाद वितरण किया गया। इस दौरान श्याम सुंदर गुप्ता, राजेश गुप्ता, दुर्गा प्रसाद गुप्ता, काली चरण गुप्ता, रोहित गुप्ता, सुरेश गुप्ता, अनूप जायसवाल, आकाश साहू, सूरज साहू, रामजीत चौहान, दारा चौहान, राम बुझरात यादव, हरिराम यादव, डॉ राम सागर यादव, डॉ मंगला सोनी, अशोक विश्वकर्मा, शशिकांत विश्वकर्मा, सहित बड़ी संख्या में श्रद्धालु उपस्थित रहें।
Feb 21, 2021

Previous articleजौनपुर : नेपाल के देवा थापा ने हरियाणा के मुन्ना टाइगर को दी पटकनी
Next articleजौनपुर : कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने राष्ट्रपति को संबोधित पत्रक एसडीएम को सौंपा
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏