जौनपुर : समर्पण दिवस के रूप में संघ ने मनाया गुरू पूर्णिमा

जौनपुर : समर्पण दिवस के रूप में संघ ने मनाया गुरू पूर्णिमा

शाहगंज।
राजकुमार अश्क
तहलका 24×7
          लाल बहादुर शास्त्री मार्ग पर स्थित प्राइमरी पाठशाला में शाहगंज की संघ शाखा ने योग गुरू ओम् प्रकाश चौबे की अध्यक्षता में गुरू पुर्णिमा को समर्पण दिवस के रूप में मनाया।
सर्व प्रथम संघ के संस्थापक केशव बलिराम हेडगेवार और गुरू जी के चित्र के समक्ष दीप प्रज्जवलित कर उनके चित्र पर माल्यार्पण किया गया तथा उपस्थित सभी लोगों ने ध्वज को प्रणाम करने के पश्चात् अपने श्रद्धा सुमन अर्पित किया। मुख्य वक्ता के रूप में इलाहाबाद हाईकोर्ट के वरिष्ठ अधिवक्ता गौरव चतुर्वेदी ने अपने संम्बोधन में बताया कि दुनिया के सबसे बडे़ स्वयंसेवी संगठन राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की स्थापना केशव बलिराम हेडगेवार ने 27 सितम्बर सन् 1925 को विजय दशमी के दिन की थी।

संघ के प्रथम सर संघचालक हेडगेवार ने अपने घर पर 17 लोगों के साथ गोष्ठी करके संघ के गठन की योजना बनाई थी। इस बैठक में हेडगेवार जी के साथ विश्वनाथ केलकर, भाऊजी कावरे, अण्णा साहने, बालाजी हुद्दार, बापूराव भेदी आदि लोग उपस्थित थें और आज यह संगठन एक विशाल परिवार के रूप में सभी जरूरत मंद लोगों की निस्वार्थ भाव से सेवा कर रहा है।

गौरव चतुर्वेदी ने गुरू के महत्व पर प्रकाश डालते हुए बताया कि गुरू की महिमा का बखान करना किसी के भी भी सामर्थ्य नहीं है, हमारी पहली गुरू हमारी माता होती है वह ही हमें बचपन में सही गलत, अच्छे बुरे का ज्ञान करातीं है तथा समाज में एक अच्छे नागरिक के रूप में सम्मान पाने में हमारी मदद करती है। उन्होंने इस बात पर भी प्रकाश डाला कि आपने आज जो भी द्रव्य के रूप में अपनी सामर्थ्य के अनुसार अर्पित किया है वह देश के किस कोने में किसके काम आएगा यह किसी को नहीं मालूम होता है मगर आप का दिया गया एक रूपया भी उस जरूरत मंद के लिए लाख का काम करता है जो किसी संकटग्रस्त क्षेत्र में फंसा होता है।
इस अवसर पर बालयोगी करन गुरू ने देश भक्ति गीत “है प्रीत जहाँ की रीत सदा” गाकर प्रांगण को देश भक्ति की भावना से भर दिया। मुख्य शिक्षक साहिल ने अपने वक्तव्य में बताया कि संघ हमेशा देश प्रथम की भावना को सामने रखकर काम करता है यह बिना किसी भेदभाव के सबकी मदद करने के लिए सदैव तैयार रहता है।
आयोजन की अध्यक्षता कर रहे हैं ओम प्रकाश चौबे ने उपस्थित सभी स्वयंसेवक एवं योग साधकों का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि हमें अपने देश राष्ट्र समाज के प्रति समर्पित होकर बिना किसी भेदभाव के सबके हित को ध्यान रखतें हुए काम करना चाहिए। इस अवसर पर ओम प्रकाश चौबे, गौरव चतुर्वेदी, मुख्य शिक्षक साहिल, शाखा कार्य वाहक अनन्त, प्रचारक श्रवण कुमार सेठ, अवतार गुप्ता, बालयोगी करन गुरू, मुकेश जायसवाल, विशाल गुप्ता, शिवम, सोनू यादव आदि लोग उपस्थित रहें।
Previous articleजौनपुर : समरस फाउंडेशन ने पूर्व विधायक बाबा दूबे को किया सम्मानित
Next articleजौनपुर : सावन में शिव का किया गया रुद्राभिषेक है विशेष फलदायी- डॉ शैलेश
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏