जौनपुर : सावन के आखिरी सोमवार को त्रिपुरारी के भक्तों की उमड़ी भीड़

जौनपुर : सावन के आखिरी सोमवार को त्रिपुरारी के भक्तों की उमड़ी भीड़

शाहगंज।
राजकुमार अश्क
तहलका 24×7
               हर हर महादेव, हमार काल का बिगारी- हम हई महाकाल के पुजारी, जैसे उद्घोष से महादेव तिराहा गूंजता रहा, सावन के आखिरी सोमवार के दिन सन् 2003 में शिव भक्तों ने खुटहन तिराहे के बगल में एक मंदिर की आधारशिला रखी थी जिसमें भगवान शिव की मूर्ति की स्थापना की, तब से लेकर लगातार हर वर्ष सावन के आखिरी सोमवार को हवन पूजन के साथ भव्य भंडारे और जागरण का भी आयोजन किया जाता रहा है मगर पिछले दो सालों से कोरोना जैसी वैश्विक महामारी के चलते यह आयोजन सांकेतिक रूप में सम्पन्न होता है।

दो सालों से सादगी के साथ सरकार द्वारा जारी की गई कोरोना गाइडलाइन का पालन करते हुए यह आयोजन सांकेतिक रूप से किया जा रहा है। इसी क्रम में इस वर्ष भी सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन का पालन करते हुए मंदिर को आकर्षण ढंग से सजाया गया था जिसकी छटा देखते ही बनती थी। मंदिर के बगल में ही भंडारे का आयोजन किया गया था जिसमें भक्तों ने प्रसाद ग्रहण किया। राकेश कुमार दूबे, सत्यम दूबे और हरिप्रसाद मिश्र ने हवन पूजन के कार्यक्रम को पूरे विधि विधान के साथ सम्पन्न कराने के पश्चात् उपस्थित शिव भक्तों से कहा की भगवान शिव ही सम्पूर्ण सृष्टि के रक्षक है, भगवान अपने भक्तों को कभी खाली हाथ नहीं जानें देते हैं इनके सानिध्य में जो भी आता है उसे वो खुशहाल कर देते हैं।

इस अवसर पर मंदिर के समस्त पदाधिकारियों के साथ प्रवीण श्रीवास्तव, राकेश कुमार श्रीवास्तव, मदन कुमार अग्रहरि, नितेश कुमार अग्रहरि, जेपी सिंह, राकेश कुमार गुप्ता, मुन्ना श्रीवास्तव, पिंटु अस्थाना आदि शिव भक्त उपस्थित रहें।
Previous articleजौनपुर : विद्युत प्रवाहित तार की चपेट में आये युवक व दो जानवरों की मौत
Next articleजौनपुर : पुलिस की मौजूदगी में दबंगों ने ढहाया आशियाना, उठा ले गये गृहस्थी का सामान
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏