जौनपुर : सोंधी ब्लॉक में रचा इतिहास, लहराया बीजेपी का परचम

जौनपुर : सोंधी ब्लॉक में रचा इतिहास, लहराया बीजेपी का परचम

# बीजेपी प्रत्याशी मंजू सिंह ने सरिता यादव को 18 मतों से हराया

# सोंधी से शाहगंज विधायक नहीं बचा पाए अपना राजनीतिक किला

खेतासराय।
अज़ीम सिद्दीकी
तहलका 24×7
                   त्रिस्तरीय पंचायत चुनाब समाप्त होने के बाद ब्लॉक प्रमुखी के चुनाव की हलचल तेज़ हो गयी थी। कहीं कोई अपनी प्रतिष्ठा बचाने तो कहीं कोई राजनीतिक किला तोड़ने का प्रयास कर रहा था। ऐसे में जिले के सबसे बड़े ब्लॉक सोंधी में एक परिवार का चार दशक से सत्ता पर कब्जा होते चला आ रहा था। जो अब जाकर खत्म हुआ। सोंधी ब्लॉक प्रमुखी पद में अब तक में पहली बार बीजेपी बाज़ी मारने में सफल हुई है।

शाहगंज ब्लॉक मुख्यालय पर प्रमुखी के चुनाव में शनिवार को भाजपा ने चालीस साल से एक ही परिवार के कब्ज़े में रही। जिसको हराकर बीजेपी पुराना राजनीतिक किला को तोड़ने में कामयाब रही। सपा की सरिता यादव को 18 वोट से हराकर कब्ज़ा जमाने मे कामयाब रही। घोषणा होते ही बीजेपी समर्थक खुशी से झूम उठे। प्रशासन के बार-बार समझाने के बाद भी कार्यकर्ताओं पर कोई असर देखने को नहीं मिल रहा था और वह जमकर नारेबाजी करते रहे।

शनिवार की पूर्वाह्न 11 बजे कड़ी सुरक्षा में मतदान शुरू हुआ। दोपहर तक क्षेत्र पंचायत सदस्यों की आमद कम रही। तीन बजे तक 154 मत प्रत्याशियों को मिला तथा एक मत अमान्य हो गया। पन्द्रह मिनट बाद परिणाम की घोषणा कर दी गई। भाजपा प्रत्याशी मंजू सिंह पत्नी अजय सिंह 86 मत पाकर जीत गई, जबकि सपा की सरिता यादव 68 वोट पाकर हार सामना करना पड़ा। विदित हो कि भाजपा नेता विजय सिंह विद्यार्थी और शाहगंज विधायक व पूर्व मंत्री ललई यादव ने चुनाव जीतने के लिए एड़ी-चोटी का जोर लगा दिया था।

मतदान के दौरान प्रेक्षक अजय सिंह चुनाव का जायज़ा लिया।सुरक्षा की दृष्टि से उप जिलाधिकारी शाहगंज राजेश वर्मा, सीओ अंकित कुमार सर्किल के पुलिस बल के साथ चक्रमण करते दिखे। थानाध्यक्ष राजेश कुमार यादव चुनाव परिणाम आते ही मंजू सिंह पत्नी अजय सिंह को लेकर सरायख्वाजा थाना क्षेत्र के सोनिकपुर स्थित उनके पैतृक आवास पर सुरक्षित पहुंचाने के लिए रवाना हो गए। जिले के इस चर्चित ब्लॉक पर मतदान को लेकर खेतासराय कस्बे में भी सपा और भाजपा समर्थकों से जबर्दस्त गहमागहमी रही।


# जब फाड़ना पड़ा पत्र, दूसरे मत पत्र से हुई वोटिंग

विकासखण्ड शाहगंज (सोंधी) शांति पूर्वक चुनाव चल रहा था। अंतिम समय में एक महिला लेखपाल के चलते विवाद होते होते बच गया। उच्चाधिकारियों ने किसी तरह महिला को दूसरा मत पत्र दिया तो मामला शांत हुआ। दरअसल एक महिला क्षेत्र पंचायत सदस्य मतदान करने अंदर गयी थी। जहां उसने एक महिला लेखपाल कर्मी से सहयोग मांगा तो उसने स्वयं सरिता यादव को मत देकर पेटिका में डालने लगी। इतने में उक्त सदस्य ने कहा किसको वोट दी हैं।
हम देखेंगे देखा तो उक्त महिला सिपाही ने सदस्य के विचार के विपरीत सरिता यादव को दिया। अब जिद कर गयी हमे मंजू सिंह को वोट देना है ऐसे में शोर शराबा निबटाने के लिए पर्चे को फाड़ दिया गया और दूसरे पर्चे पर मंजू सिंह को वोट देकर मतपेटिका में डाला गया तो ऐसा कर किसी तरह मामला निस्तारण किया गया। हालांकि इस मामले में प्रत्याशी मंजू सिंह के ज्येष्ठ विजय सिंह विद्यार्थी ने आरोप लगाया है कि उक्त लेखपाल ने दो मत फर्जी डलवाया है।
Previous articleजौनपुर : मां ने रिश्तेदार पर लगाया नाबालिक बेटी भगा ले जाने का आरोप
Next articleजौनपुर : फोटो जर्नलिस्ट को पितृशोक, पत्रकार जगत एवं चित्रांश परिवार में शोक की लहर
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏