ठीकेदार की लापरवाही का खामियाजा भुगत रहे नई आबादी के लोग

ठीकेदार की लापरवाही का खामियाजा भुगत रहे नई आबादी के लोग

# धूल के गुब्बार से हुआ नारकीय जीवन, हलकान हो रहे हैं रहवासी

शाहगंज।
रवि शंकर वर्मा
तहलका 24×7
                   रामलीला एवं भरत-मिलाप के ऐतिहासिक मेले को सकुशल सम्पन्न कराने के लिए नगर पालिका ने नई आबादी की जर्जर सड़क को दुरूस्त करने के लिए काम तो नवरात्रि में ही शुरू कर दिया और लक्ष्य था कि दशहरे के मेले से पूर्व नई आबादी की सड़क को दुरुस्त कर दिया जाए लेकिन… ठीकेदार की लेट-लतीफी के चलते अभी तक सड़क निर्माण का कार्य पूरा नहीं हो सका है जिसका खामियाज़ा नई आबादी के स्थानीयों को भुगतना पड़ रहा है।

बताते चलें कि नगर पालिका ने नई आबादी के जर्जर सड़क की मरम्मत समय से ही शुरू करा दिया था कि दशहरे का मेला सकुशल सम्पन्न हो सके लेकिन सूत्रों की मानें तो उक्त सड़क मरम्मत का ठीकेदार दशहरा से पहले ही सड़क पर गिट्टी-मिट्टी डालकर आधा-अधूरा काम छोड़ कर भाग गया और दशहरा मेला धूल के गुब्बार में सम्पन्न हुआ।
सड़क निर्माण का काम अभी की जस का तस है और स्थानीय नागरिक धूल-मिट्टी के दूषित वातावरण में गुजर बसर को मजबूर हैं और अब स्थानीय लोगों में जिम्मेदारों के प्रति आक्रोश पनप रहा है।इस बाबत पालिकाध्यक्ष गीता जायसवाल ने बताया कि नई आबादी के सड़क मरम्मत के दौरान सड़क पर गिट्टी-मिट्टी डाला गया था अपरिहार्य कारणों से काम में विलंब हो रहा है फिलहाल दो दिन से नगर पालिका द्वारा पानी का छिड़काव कराया जा रहा है और जल्द ही सड़क के निर्माण कार्य को पूरा कर लिया जाएगा।
Previous articleजौनपुर : धनुष टूटते ही जयश्रीराम के जयकारों से गूंजा पाण्डाल
Next articleसभी पात्र मतदाताओं को निर्वाचक नामावली में रजिस्टर करना हमारा लक्ष्य- मो मुस्तफा
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏