डॉ अदनान ने किया क्षेत्र का नाम रोशन, पहले प्रयास में नीट पीजी में बनाई जगह

डॉ अदनान ने किया क्षेत्र का नाम रोशन, पहले प्रयास में नीट पीजी में बनाई जगह

# कुशल सर्जन बनकर समाज की सेवा करना चाहते है डॉ अदनान

खेतासराय।
अज़ीम सिद्दीकी
तहलका 24×7
             सफलता किसे अच्छी नही लगती है और लोग सफल होने के लिए रात-दिन मेहनत भी करते है ऐसे में जिनके इरादे और हौसले बुलंद होते हैं निश्चित ही वे लोग अपने लक्ष्य को प्राप्त करते है और सबके लिए सफलता की एक नई मिशाल पेश करते है। ऐसे ही नवयुवकों के लिए प्रेरणास्रोत बने हैं डॉ अदनान.. जिन्होंने प्रथम प्रयास में ही नीट पीजी में स्थान बनाकर अपने परिवार, क्षेत्र और जनपद का नाम रोशन किया है। सफलता की खबर मिलते ही बधाई देने वाले शुभचिंतकों का तांता लगा रहा।

खेतासराय-जौनपुर मुख्य मार्ग पर स्थित हबीब हॉस्पिटल के चेयरमैन डॉ एमएस खान के पुत्र डॉ अदनान खान एएमयू अलीगढ़ से एमबीबीएस की पढ़ाई करने के बाद पहले ही प्रयास में स्थान बनाया और स्थानीय मीडिया से रूबरू होते हुए बताया कि मैंने अपने शिक्षकों के सानिध्य व उनके मार्गदर्शन में रहकर लगातर शिक्षा हासिल किया। मैं एमबीबीएस की पढ़ाई एएमयू से करने के दौरान ही साथ-साथ नीट पीजी की भी तैयारी कर रहा था। मेरे मन में हमेशा से यही चलता रहा कि एक बड़ा अच्छा और कुशल सर्जन डॉक्टर बनाकर समाज की सेवा करूँगा जिसके लिए मैंने कड़ी मेहनत किया। जिसका आज परिणाम रहा कि पहले ही प्रयास में नीट पीजी परीक्षा में सफलता हासिल कर आल इण्डिया 4512 जनरल रैंक मिली है यह मेरे लिए बेहद खुशी की बात है। उन्होंने तैयारी करने वाले विद्यार्थियों के बारे में बताया कि किसी चीज़ की आप तैयारी कर रहे है तो उसमें सबसे पहले शत-प्रतिशत ईमानदारी होनी चाहिए।

यदि आप उसमें किसी प्रकार की कोताही करते है तो कहीं न कहीं आप खुद अपने आपको धोखा दे रहे है।डॉ अदनान खान ने बताया कि आज जिस मुकाम पर पहुँचा हूँ यह सब मेरे परिजनों की देन है जिन्होंने मुझे यहाँ तक पढ़ाई के लिए भेजा है। यह सफलता मेरे गांव के आस-पास के इलाकों में तैयारी या पढ़ने वाले विद्यार्थियों के लिए एक प्रेरणास्रोत रहेगी। परिजनों ने बताया कि शुरू से पढ़ने में होनहार छात्र के रूप में रहा है। आज सफलता मिलने के बाद बेहद खुशी है की आगे पढ़ाई करने के बाद बेटा समाजसेवा करेगा। बधाई देने वालों में जगदम्बा प्रसाद पांडेय, मो. अलकमा, हाजी नौशाद अहमद, आनंद बरनवाल, डॉ अबू ज़ैद खान, मो. फैज़, भूपेंद्र सिंह, डॉ अबू फैसल आदि लोग प्रमुख रहे।
Previous articleजौनपुर : अ. भा. कायस्थ महासभा के प्रदेश अध्यक्ष बने डॉ रवि प्रकाश
Next articleजौनपुर : पुत्र मोह में फंसी सोनिया समय रहते फैसला नहीं करती…
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏