“तहलका 24×7” की एक बड़ी खबर पर खोजपूर्ण रिपोर्ट…

“तहलका 24×7” की एक बड़ी खबर पर खोजपूर्ण रिपोर्ट…

# चोरों ने लूटा करोड़ों का “काला खजाना” : पुलिस ने बरामद भी कर लिया सवा 8 करोड़ का माल..

# लेकिन अमेरिका में बैठा “मालिक” कह रहा, मेरा नहीं है ? : बाप नबंरी- बेटा दस नबंरी

लखनऊ/नोएडा।
विजय आनंद वर्मा
तहलका 24×7
                   ग्रेटर नोएडा की सिल्वर सिटी सोसाइटी में जिस फ्लैट से करोड़ों रुपये और सोना चोरी हुआ था, उस फ्लैट के मालिक किसलय पांडेय ने इस मामले से खुद को अलग करते हुए इसकी जानकारी होने से ही इनकार कर दिया है। किसलय पांडेय ने विदेश से वीडियो काॅलिंग के जरिए मीडिया से बातचीत में कहा, “मेरे परिवार के साथ कुछ कॉरपोरेट कम्पनी साजिश रच रही हैं। नोएडा पुलिस ने उन्हें कोई जानकारी नहीं दी है। मैं और मेरे परिवार का कोई सदस्य फरार नहीं हुआ है। बरामद माल मेरा नहीं है।” ग्रेटर नोएडा की सिल्वर सिटी सोसाइटी में सितंबर 2020 के आखिरी हफ्ते में चोरी हुई थी। इस वारदात में 6 करोड़ रुपये और करीब 24 किलो सोना चोरी हुआ था। फ्लैट की रखवाली करने वाला नौकर अपने साथियों की मदद से बड़ी मात्रा में नकदी और सोना लेकर फरार हो गया। खास बात यह है कि फ्लैट के मालिक ने चोरी की इस घटना के बारे में कोई शिकायत तक नहीं की।
वारदात के करीब 9 महीने बाद चोरों में माल के बंटवारे को लेकर मारपीट हो गई और मामला 3 दिन पहले कोतवाली सेक्टर-39 पुलिस तक पहुंच गया। पहले 2 चोर पकड़े गए, फिर उनके 4 और साथी। इनके पास से पुलिस ने 51 लाख रुपए, 13 किलो से अधिक होना, चोरी के पैसों से खरीदी गई स्कार्पियो व एक करोड़ 10 लाख की जमीन के कागज बरामद किए। “तहलका 24×7” पर 12 जून को यह खबर प्रमुखता से चली थी। जब चोरों ने पूरी जानकारी दी तो पुलिस के भी होश उड़ गए। पुलिस ने बरामद धन के मालिकों का पता लगाया तो जानकारी मिली कि फ्लैट मालिक राममणि पांडेय और उनका बेटा किसलय पांडेय विदेश में है।
किसलय पांडेय: बरामद सोना व रुपए मेरे नहीं

# कंपनियों को ब्लैकमेल कर हासिल किया गया धन…

इस मामले में पुलिस के साथ ही ईडी और आयकर विभाग भी इस मामले की जांच में सक्रिय हो गए हैं। जांच के दौरान पुलिस को पता चला कि काला धन जिस फ्लैट में रखा था उसके मालिक राममणि पांडेय और उनका बेटा किसलय पांडेय हैं। इन दोनों के खिलाफ दिल्ली और हरियाणा में कई एफआईआर दर्ज हैं। किसलय पांडे और उसके पिता का फाइनेंस कंपनी इंडिया बुल्स से भी विवाद चल रहा है। पुलिस को शक है कि यह रकम और सोना बड़ी कंपनियों को ब्लैकमेल करके हासिल की गई है।
ग्रेटर नोएडा की इसी सोसायटी के फ्लैट में हुई चोरी

# हमारी संपत्ति का हिसाब मेरे पास है- किसलय…

इस बीच विदेश में बैठे किसलय पांडेय ने वीडियो कॉल के जरिए हुई बातचीत में खुद को अमेरिका में होने की जानकारी दी है, उसने अपने ऊपर लगाए गए सभी आरोपों को बेबुनियाद बताया। उसने यह भी दावा किया कि पुलिस जिस फ्लैट को उसका बता रही है वह उसका है ही नहीं। उसने यहां तक कहा कि सिल्वर सिटी सोसाइटी का नाम भी उसने अब तक नहीं सुना है। किसलय पांडेय ने कहा कि मैं कई बड़ी कॉर्पोरेट कंपनीज के खिलाफ केस लड़ रहा हूँ, यह उनकी ही साजिश है। मैं या मेरे परिवार का कोई भी सदस्य फरार नहीं है। हमारी सभी संपत्ति और नकदी का हिसाब मेरे पास है जिसको मैं जांच एजेंसी को दिखाने और बताने के लिए तैयार हूं। 
“तहलका 24×7” पर 12 जून को चली खबर
वहीं “तहलका 24×7” को जानकारी मिली है कि बरामद मालिक के संभावित मालिक की पत्नी से नोएडा पुलिस ने पूछताछ की है, कोरोना के चलते वह विदेश नहीं जा सकी। यह भी कहा जा रहा है कि पिता-पुत्र को पुलिस भारत वापस लाने का प्रयास करेगी। यह भी चर्चा है कि जिस फ्लैट में चोरी हुई है, वहां 40 किलो सोना रखा हुआ था। किसलय अपने को वकील कहता है जबकि उसकी डिग्री फर्जी बताई जा रही है। किसलय के पिता राम मिलन पांडेय 11 महीने जेल में रहे थे। बताया जा रहा है कि बाप-बेटे ने दो सौ करोड़ से अधिक की ठगी की है। दोनों के विरुद्ध एनसीआर, दिल्ली और गुड़गांव के थानों में कई मुकदमे दर्ज हैं तथा ठगी के मामले की सीबीआई जांच कर रही है, तथा ये चर्चित मामला कोर्ट में भी विचाराधीन है। यह भी बात सामने आ रही है कि जिस फ्लैट में चोरी हुई है, उसे किसलय पांडेय ने किसी और के नाम से किराए पर लिया था।
Previous articleजौनपुर : क्रांतिकारी पत्रकार परिषद शाहगंज ईकाई के पुनर्गठन पर हुआ विचार विमर्श
Next articleजौनपुर, मेरठ, मुरादाबाद समेत छह जिलों के पुलिस कप्तानों समेत नौ आईपीएस के तबादले
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏