थाईलैंड से आई कॉलगर्ल की मौत के मामले में नया मोड़…

थाईलैंड से आई कॉलगर्ल की मौत के मामले में नया मोड़…

# सपा प्रवक्ता का आरोप- भाजपा सांसद संजय सेठ के बेटे ने बुलाया था युवती को…

# कोरोना महामारी के दौर में इस प्रकरण से यूपी की सियासत गरमाई

लखनऊ।
विजय आनंद वर्मा
तहलका 24×7
                   थाईलैंड की युवती की लखनऊ में कोरोना से हुई मौत के बाद उत्तर प्रदेश की सियासत गर्मा गई है। इस युवती को जिसे काॅलगर्ल बताया जा रहा है, कहा जा रहा है कि सात लाख रुपए में इसे लखनऊ बुलाया गया था, कोरोना संक्रमित होने के बाद राम मनोहर लोहिया अस्पताल में उसकी मौत हो गई थी। अब इस मामले में भाजपा सांसद संजय सेठ के बेटे का नाम आने से उत्तर प्रदेश की सियासत में तूफान आ गया है।
सपा प्रवक्ता आईपी सिंह का गंभीर आरोप/ट्वीट
इस सनसनीखेज मामले में कल तक लखनऊ के एक बड़े कांट्रेक्टर के बेटे द्वारा युवती को लखनऊ बुलाकर एक होटल में ठहराए जाने की बात सामने आ रही थी।‌ लेकिन इस मामले में आज तब नया मोड़ आ गया जब सपा प्रवक्ता आईपी सिंह ने बाकायदा ट्वीट कर भाजपा से राज्यसभा सांसद/बड़े बिल्डर संजय सेठ के बेटे पर इसका आरोप जड़ दिया। इसी ट्वीट के बाद से यूपी की सियासत में नई बहस छिड़ गई है कि वैश्विक आपदा कोरोना में जहां पूरा विश्व प्रभावित हैं और यूपी की राजधानी लखनऊ के हालात काफी खराब हैं, वहां ऐसे में भाजपा सांसद का बेटा ये गुल खिला रहा है।
“तहलका 24×7” पर इस बारे में चली खबर
सपा प्रवक्ता आईपी सिंह जो पहले भाजपा में ही थे ने ट्वीट किया है, जिसमें सांसद संजय सेठ की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ फोटो भी है। इस ट्वीट में कहा गया है कि दुनिया भर में महात्रासदी के बीच थाईलैंड से एक काल गर्ल बुलाई गई, जिसकी अब कोरोना से मौत हो गई है। क्या यूपी पुलिस में हिम्मत है कार्यवाही करने की ? जांच करने की ? इस ट्वीट के बारे में खबर लिखे जाने तक सांसद संजय सेठ की ओर से कोई प्रतिक्रिया सामने नहीं आई थी।
कोरोना से मृत थाईलैंड की युवती का पासपोर्ट

# पुलिस कह रही- जानकारी जुटाई जा रही है…

बताते चलें कि पिआसिडा नामक ये युवती 28 अप्रैल को दिल्ली से फ्लाइट से लखनऊ आई थी, जिसे हजरतगंज इलाके मेें स्थित एक होटल में ठहराया गया था। दो दिन बाद युवती की तबियत बिगड़ने पर लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां जांच में उसके कोरोना संक्रमित होने की बात सामने आई और आक्सीजन लेवल कम होने पर तीन दिन बाद उसकी मृत्यु हो गई। विदेशी युवती की कोरोना से मौत की बात पता चलने पर पुलिस-प्रशासन ने इससे थाईलैंड एंबेसी को अवगत कराने व वहां से युवती के परिजनों की सहमति मिलने के बाद स्थानीय गाइड सलमान की मदद से अंतिम संस्कार करा दिया गया। पुलिस-प्रशासन विदेशी युवती की मौत की बात तो स्वीकार कर रहा है, पर उसे किसने और क्यों बुलाया था ? इस पर चुप्पी साध रखी है।
एडीएम प्रशासन अमर पाल सिंह के अनुसार एलआईयू ने युवती की मौत की सूचना भेजी थी। उसी आधार पर जिला प्रशासन की ओर से उचित कदम उठाए गए। युवती की अस्थियां सुरक्षित रखी जाएंगी, नगर निगम से मृत्यु प्रमाण पत्र लिया जायेगा। मृत्यु प्रमाण पत्र, सामान न अवशेष थाईलैंड दूतावास के जरिए युवती के परिजनों को भेजें जायेंगे। एसीपी प्रवीण मलिक का कहना है कि दूतावास के निर्देशों के अनुसार अंतिम संस्कार किया गया। गाइड सलमान से जानकारियां हासिल करने का प्रयास किया जा रहा है। आरोपों के घेरे में आए सांसद संजय सेठ के बेटे की भी कोई प्रतिक्रिया सामने नहीं आई है। वहीं कोरोना काल में थाईलैंड से दिल्ली और फिर लखनऊ पहुंची युवती की मौत से पहले तक कोई जानकारी न होने से पुलिस-प्रशासन पर भी सवाल उठ रहे हैं।
Previous articleकोरोना संक्रमण के चलते यूपी में एक हफ्ते के लिए फिर बढ़ाया गया लाॅकडाउन
Next articleकोरोना का कहर.. दिल्ली में भी बढ़ाया गया 17 मई तक लॉकडाउन
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏