नवनिर्वाचित ग्राम प्रधान की सरेशाम गोली मारकर हत्या, पत्नी घायल

नवनिर्वाचित ग्राम प्रधान की सरेशाम गोली मारकर हत्या, पत्नी घायल

# दो सौ मीटर तक दौड़ाकर हमलावरों ने मारीं कईं गोलियां, पूर्व प्रधान गिरफ्तार, 3 लोग फरार

# हत्या के बाद गांव में तनाव के चलते पीएसी तैनात

लखनऊ/बरेली।
विजय आनंद वर्मा
तहलका 24×7
               बरेली में पंचायत चुनाव की रंजिश में ताबड़तोड़ फायरिंग कर कैंट के गांव परगवां के नव निर्वाचित ग्राम प्रधान इशहाक (32 वर्षीय) की कल देर शाम गोली मारकर हत्या कर दी गई। ग्राम प्रधान की पत्नी को भी गोली लगी है। पुलिस ने इशहाक के खिलाफ चुनाव लड़कर हारे एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है, दूसरा आरोपी गांव का पूर्व प्रधान फरार है। हत्या के बाद दो समुदायों में तनाव की स्थिति देखते हुए गांव में पीएसी तैनात कर दी है।
मृतक प्रधान इशहाक (फाइल फोटो)
पहली गोली लगने के बाद बाइक से गिरे परगवां के ग्राम प्रधान इशहाक ने जान बचाने के लिए करीब दो सौ मीटर तक दौड़ लगाई लेकिन उनका पीछा कर रहे हमलावर उन पर तब तक गोलियां चलाते रहे जब तक वह धराशायी नहीं हो गए। गोलियों की आवाज सुनकर गांव के लोग घटनास्थल की ओर दौड़े, लेकिन हमलावर भागने में सफल रहे। हत्या का पूरा वाकया बाइक पर उनके साथ आ रही उनकी पत्नी शकीना की आंखों के सामने घटित हुआ। शकीना के मुताबिक हमलावरों ने इशहाक पर पहली गोली चलाई तो वे लोग बाइक समेत सड़क पर ही गिर पड़े।
घटना के समय साथ में मौजूद पत्नी को भी लगी गोली
इशहाक जान बचाने के लिए भागे तो हमलावर उन्हें करीब दो सौ मीटर तक दौड़ाते रहे और एक के बाद एक उन पर तब तक गोलियां चलाते रहे जब तक वह लहूलुहान होकर गिर नहीं गए।‌ गांव करीब ही था लिहाजा कुछ ही देर में इशहाक के परिवार वाले और समर्थक इकट्ठे हो गए। मौके पर पहुंची पुलिस ने इशहाक को जीवित बताकर शव हटाने की कोशिश की लेकिन गुस्साए समर्थकों ने काफी देर तक शव नहीं उठाने दिया। एसएसपी, एसपी (सिटी) और एसडीएम के मौके पर पहुंचने के बाद इशहाक के समर्थक बड़ी मुश्किल से माने, तब शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा जा सका।
रोते बिलखते परिजन: गांव में तनाव व्याप्त
इस बार गांव में प्रधानी के चुनाव में इशहाक अकेले मुस्लिम प्रत्याशी थे। तीन प्रत्याशियों के खिलाफ उन्होने पहली बार ही चुनाव लड़कर प्रधानी जीती। उनकी हत्या से मिश्रित आबादी के गांव परगवां में तनाव पैदा हो गया, जिसको देखते हुए गांव में पीएसी तैनात कर दी गई है। इशहाक के परिवार वालों का कहना है कि उन्हे हिंदू और मुस्लिम दोनों ने वोट देकर जिताया, आरोपी उनकी जीत को हजम नहीं कर पा रहे थे और लगातार धमकियां दे रहे थे। एसएसपी के अनुसार मृतक के परिवार ने चार लोगों पर हत्या का आरोप लगया है, इनमें से एक आरोपी पूर्व प्रधान मोर सिंह को गिरफ्तार कर लिया गया है। बाकी की तलाश में दबिश दी जा रही है।
Previous article“हिमालय रक्षक” पद्मविभूषण सुंदरलाल बहुगुणा हार गए कोरोना की जंग
Next articleकेंद्र सरकार को रिजर्व बैंक देगा 99,122 करोड़ रुपए का सरप्लस फंड
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏