नव वर्ष के पहले दिन एक और दु:खद हादसा

नव वर्ष के पहले दिन एक और दु:खद हादसा

# भिवानी में पहाड़ दरकने से 4 लोगों की मौत, 20 लोग और कई वाहन मलवे में दबे

# राहत और बचाव कार्य जारी, खनन के लिए ब्लास्ट किए जाने से हादसे की आशंका

लखनऊ/भिवानी।
विजय आनंद वर्मा
तहलका 24×7
                  जम्मू के कटरा माता वैष्णो देवी मंदिर में मची भगदड़ के बाद हरियाणा के भिवानी जिले में नए साल पर बड़ा हादसा हो गया। यहां पहाड़ दरकने से 8 से 10 वाहन दब गए। करीब 15 से 20 लोगों के दबने की आशंका जताई जा रही है, तीन लोगों को निकाल लिया गया है। 4 लोगों की मौत की पुष्टि हो चुकी है।
जानकारी के अनुसार, डाडम खनन क्षेत्र में पहाड़ का बड़ा हिस्सा दरकने से यह हादसा हो गया। प्रशासनिक अमला राहत कार्यों में जुटा हुआ है। मौके पर पहुंचे कृषि मंत्री जेपी दलाल व एसपी अजीत सिंह शेखावत ने घटनास्थल का जायजा लिया। भिवानी के एसपी अशोक शेखवात के अनुसार हादसे में 4 लोगों की मौत हो गई, 2 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए‌। पहाड़ के मलबे में चार पोकलेन, 4 डंपर व अन्य मशीनें दबी हैं। अभी कितने लोग मलबे में दबे हैं, इसकी पुख्ता जानकारी नहीं है। एसपी ने कहा कि राहत बचाव कार्य युद्धस्तर पर चल रहा है।
कृषि मंत्री घटनास्थल का निरीक्षण करते हुए

# मंत्री बोले : नहीं पता कितने लोग दबे हैं…

हरियाणा के कृषि मंत्री जेपी दलाल ने कहा कि उन्हे साफ नहीं पता है कि कितने लोग दबे हुए हैं, तीन लोग हॉस्पिटल में भर्ती कराए गए हैं। फ़िलहाल प्रशासन को जल्द से जल्द सारी मशीनरी इस्तेमाल कर लोगों को बाहर निकालने के आदेश दिए गए हैं। यह हादसा भिवानी के खनन क्षेत्र डाडम में हुआ है। यहां पहाड़ खिसकने से बड़ा हादसा हो गया। हादसे में खनन में प्रयोग होने वाली पोपलैंड और अन्य कई मशीनें भी मलबे में दब गई हैं।पहाड़ अपने आप खिसका है या फिर धमाके के कारण हादसा हुआ, इस बारे में अभी कुछ भी जानकारी सामने नहीं आ सकी है। घायलों को मलबे से निकालकर अस्पताल ले जाया जा रहा है।
बता दें कि तोशाम क्षेत्र के खानक और डाडम में बड़े स्तर पर पहाड़ खनन कार्य होता है। प्रदूषण के चलते 2 महीने पहले खनन कार्य पर रोक लगाई गई थी। एनजीटी ने गुरुवार को ही खनन कार्य दोबारा शुरू करने की इजाजत दी थी। एनजीटी से अनुमति मिलने के बाद शुक्रवार से ही खनन कार्य शुरू कर दिया गया था। 2 महीने तक खनन कार्य बंद रहने की वजह से भवन निर्माण सामग्री की किल्लत हो रही थी। इस किल्लत को दूर करने के लिए ही वहां बड़े स्तर पर ब्लास्ट किए जाने की आशंका भी जताई जा रही है। खनन क्षेत्र दोनों तरफ से जंगली एरिया से घिरा हुआ है।
गृहमंत्री अमित शाह ने ट्वीट करते हुए कहा कि हरियाणा के भिवानी में माइनिंग साइट पर लैंडस्लाइड से हुआ हादसा अत्यंत दुःखद है। मैंने मुख्यमंत्री से बात की है‌। स्थानीय प्रशासन बचाव कार्य में लगा हुआ है, अधिक से अधिक लोगों की जान बचाना हमारी प्राथमिकता है, मैं घायलों के शीघ्र ही स्वस्थ होने की कामना करता हूं।

Earn Money Online

Previous articleजौनपुर : जरूरतमंदों की सहायता करना समाज का दायित्व- उर्वशी सिंह
Next articleआजमगढ़ : अब दरख्वास्त देते-देते थक गये हैं साहब.. विकलांग फरियादी
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏