16.7 C
Delhi
Sunday, February 25, 2024

नौकरी के बदले अस्मत मांगने में दूसरी छात्रा ने भी की शिकायत

नौकरी के बदले अस्मत मांगने में दूसरी छात्रा ने भी की शिकायत

 ग्वालियर। 
तहलका 24×7 
            नौकरी के बदले बेरोजगार छात्राओं से इज़्ज़त मांगने वाले बीज विकास निगम के प्रक्षेत्र उत्पादन अधिकारी संजीव तंतुवे को ग्वालियर पुलिस ने दोबारा गिरफ्तार किया है। तीन दिन में यह उसकी दूसरी गिरफ्तारी है।इतने गंभीर मामले में सामान्य छेड़छाड़ की धारा में केस दर्ज किया गया।
आरोपित पर एक और एफआइआर दर्ज की गई है। जिसमें दूसरी छात्रा के नाम का उल्लेख पहली एफआइआर में है, उससे खुद क्राइम ब्रांच ने संपर्क किया। फिर छात्रा दूसरी एफआइआर में फरियादी बनी और उस पर एफआइआर दर्ज की गई। सक्रियता ग्वालियर क्राइम ब्रांच ने तब दिखाई, जब खुद मुख्यमंत्री डा.मोहन यादव इस घटना पर सख्त हुए। उन्होंने खुद अपने इंटरनेट मीडिया प्लेटफार्म पर इस घटना को अंजाम देने वाले अपराधी की सेवाएं समाप्त करने की बात लिखी थी। अगर पहली ही एफआइआर होने के बाद ग्वालियर पुलिस इतनी सख्ती दिखाती तो शायद छात्राओं की भावनाओं से खिलवाड़ करने वाला आरोपित सलाखों के पीछे होता। क्राइम ब्रांच ने आरोपित को भोपाल से दोबारा गिरफ्तार करने के बाद उसे कोर्ट में पेश किया। उससे पूछताछ के लिए एक दिन की रिमांड पर भी लिया है। तीसरी छात्रा से भी चर्चा की गई है, अभी इस मामले में एक और एफआइआर हो सकती है।
मूल रूप से रीवा क्षेत्र की रहने वाली छात्रा ग्वालियर की एक हाउसिंग सोसायटी में किराए पर रहती है। यहां पर कृषि महाविद्यालय से पढ़ाई कर रही है। म. प्र. बीज विकास निगम में टेक्निल असिस्टेंट के 10 रिक्त पदों पर संविदा नियुक्ति होनी थी। यह भर्ती ग्वालियर और जबलपुर के लिए थी। 13 अभ्यर्थियों ने इसके लिए आवेदन दिए। 27 दिसंबर को जबलपुर में साक्षात्कार था। तीन जनवरी को ग्वालियर स्थित राजमाता विजयाराजे सिंधिया कृषि विश्वविद्यालय की प्लेसमेंट सेल में साक्षात्कार था। इसमें छात्रा और उसकी दो अन्य सहपाठी छात्राओं ने साक्षात्कार दिया था।
साक्षात्कार के बाद तीनों ही छात्राओं के पास संजीव कुमार तंतुवे का काल और वाट्सएप पर मैसेज आए। उसने कहा अगर नौकरी चाहिए तो एक रात साथ बितानी होगी। उसने सेक्स फेवर की बात वाइस काल और मैसेज के जरिये की। आरोपित ने खुद को इंटरव्यू पैनल में शामिल होना बताया था। सात जनवरी को एक छात्रा ने शिकायत की। 13 जनवरी को एफआइआर दर्ज हुई और क्राइम ब्रांच की साइबर विंग ने आरोपित को पकड़ा। लेकिन एफआइआर आइपीसी की धारा 354 क के तहत थी। जमानती धारा होने के चलते उसे चंद घंटों में ही मोबाइल जब्त कर छोड़ दिया गया।
मुख्यमंत्री डा.मोहन यादव इस मामले में सख्त हुए जिसके बाद बीज विकास निगम के एमडी ने संजीव कुमार तंतुवे को बर्खास्त कर दिया। ग्वालियर पुलिस की क्राइम ब्रांच टीम आरोपित को दोबारा पकड़ने के लिए रवाना हो गई। उसे पकड़ने के बाद दूसरी छात्रा ने केस दर्ज कराया।दूसरी पीड़िता ने नया खुलासा किया है। उसने बताया कि पहले नौकरी दिलवाने के बहाने दो लाख रुपये की मांग की गई।रुपये देने में असमर्थता दिखाई तो सेक्सुअल फेवर की मांग करने लगा।
आरोपित संजीव कुमार तंतुवे ने बताया कि वह 27 दिसंबर को जबलपुर में आयोजित साक्षात्कार में भी शामिल था। वह और उसका एक साथी पैनल में शामिल सेकेट्री के साथ सहयाेग के लिए आए थे। उसके पास सभी अभ्यर्थियों की सूची भी आ गई थी। पुलिस यह पूछताछ कर रही है, आखिर इतना गोपनीय दस्तावेज इसके पास कैसे आया? उसने ऐसी डिमांड और किससे की, किसी से रुपये लिए या किसी के साथ गलत काम किया या नहीं? इसके लिए अभ्यर्थियों से एक-एक कर बात की जा रही है। आरोपित ने बताया कि जिन छात्राओं को उसने मैसेज भेजे, उन्होंने उसे प्लेसमेंट सेल से आते जाते देखा। उससे बात की थी कि अगर वह उनका चयन में कुछ सहयोग करवा दें। छात्राओं ने खुद को गरीब बताया था, इसलिए उसने उनसे नाजायज मांग की।

तहलका संवाद के लिए नीचे क्लिक करे ↓ ↓ ↓ ↓ ↓ ↓ ↓ ↓ ↓ ↓ ↓ ↓

लाईव विजिटर्स

36542329
Total Visitors
124
Live visitors
Loading poll ...

Must Read

Tahalka24x7
Tahalka24x7
तहलका24x7 की मुहिम..."सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... ?

घटना के पखवाड़ा बाद दर्ज हुआ चोरी का मुकदमा

घटना के पखवाड़ा बाद दर्ज हुआ चोरी का मुकदमा खुटहन, जौनपुर। मुलायम सोनी  तहलका 24x7               पिलकिछा मार्ग...

More Articles Like This