पति ने दी थी पत्नी की हत्या की सुपारी

पति ने दी थी पत्नी की हत्या की सुपारी

# खुद ही मारा गया, पुलिस ने किया खुलासा

सोनभद्र।
तहलका 24×7
                जिले के सदर कोतवाली क्षेत्र के हिंदुआरी गांव के समीप सुरेंद्र पांडेय की गोली मारकर हत्या करने वाले तीन शूटरों को बृहस्पतिवार को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। सुरेंद्र ने अपनी पत्नी की हत्या करने के लिए उन्हें दो लाख की सुपारी दी थी, लेकिन बदमाशों ने उसकी ही हत्या कर दी। पुलिस ने बदमाशों की निशानदेही पर मृतक का दो लाख का चेक, बाइक और हत्या में प्रयुक्त तमंचा बरामद कर लिया है।

शुक्रवार को पुलिस लाइन चुर्क में एसपी अमरेंद्र प्रसाद सिंह ने यह जानकारी दी। एसपी ने बताया कि 14 अगस्त को चोपन थाना क्षेत्र के बर्दिया तिराहे के समीप सिंदुरिया निवासी सुरेंद्र पांडेय का शव मिला था। मृतक की बहन की तहरीर पर कई लोगों के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कर घटना के खुलासे के लिए चार टीमें लगाई गई थीं। बृहस्पतिवार की शाम करीब सात बजे मुखबिर की सूचना पर चोपन एसओ नवीन तिवारी, एसओजी प्रभारी श्याम बहादुर यादव और स्वाट टीम प्रभारी अमित तिवारी और सर्विलांस प्रभारी सरोजमा सिंह ने तीन शूटरों को गिरफ्तार कर लिया।

पकड़े गए हत्यारोपी राबर्ट्सगंज कोतवाली क्षेत्र के मुसही गांव निवासी योगेश कुमार मिश्रा, सहिजन खुर्द निवासी पंकज कुमार बघेल और कुरहुल गांव निवासी चंदन तिवारी की निशानदेही पर मृतक का मोबाइल, मृतक का हस्ताक्षरित दो लाख का चेक, बाइक और तमंचा व एक कारतूस बरामद हुआ। एसपी ने बताया कि सुरेंद्र अपनी पत्नी की हत्या कराना चाहता था। हत्या के लिए दो माह पहले चंदन तिवारी के माध्यम से शूटरों से संपर्क कर हत्या के लिए दो लाख की सुपारी दी थी।
 शूटरों ने घटना को अंजाम देने से पहले रुपये की मांग की। तब सुरेंद्र ने भारतीय स्टेट बैंक के अपने खाते का बैलेंस और हस्ताक्षरित चेक दिखाया था। शूटरों के मन में शंका हो गई थी हत्या के बाद उन्हें रुपये मिलेंगे भी या नहीं। इसलिए शूटरों ने पत्नी की हत्या करने के बजाय सुरेंद्र की हत्या कर चेक ले लेने की योजना बना डाली। फरार हत्यारोपी शिवशंकर कनौजिया की तलाश की जा रही है। टीम को 25 हजार रुपये के नगद पुरस्कार से पुरस्कृत भी किया गया है।

एसपी ने बताया कि घटना के दिन सुरेंद्र ने स्वयं शूटर योगेश व पंकज को अपने घर ले जाकर तमंचा और कारतूस दिया। हत्या करने के लिए तीनों चोपन जा रहे थे। रास्ते में सुरेंद्र किसी से मोबाइल पर बात करने लगा तभी बदमाशों ने गोली मारकर उसकी हत्या कर दी और उसके पास मौजूद दो लाख का चेक ले लिया।

# पति-पत्नी में था लंबे समय से विवाद

सिंदुरिया गांव निवासी सुरेंद्र पांडेय (45) का अपनी पत्नी शिवकुमारी से लंबे समय से विवाद चल रहा था। दोनों अलग-अलग रहते थे। सुरेंद्र सिंदुरिया स्थित अपने पुश्तैनी मकान में रहता था, जबकि पत्नी चोपन बैरियर स्थित मकान में रहती है। दोनों ही एक-दूसरे के साथ न रहने की जिद पर अड़े थे। कोर्ट में भी मामले का समाधान नहीं हो पाया था। सुरेंद्र की हत्या के बाद बहन सुनीता मिश्रा ने पुलिस को तहरीर देकर पत्नी शिवकुमारी पांडेय समेत विनोद तिवारी, अतुल तिवारी और विजेंद्र मिश्रा के विरुद्ध नामजद केस दर्ज कराया था।
Previous articleबलिया जेल में बवाल : अवकाश पर चल रहे जेलर भी हुए निलंबित
Next articleप्रयागराज : कायस्थों का झुकाव चुनाव परिणाम बदलने की रखता है ताकत- इन्द्रसेन
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏