पुत्र की दीर्घायु के लिए महिलाओं द्वारा रखे जाने वाले जीवित्पुत्रिका व्रत पर विशेष!

पुत्र की दीर्घायु के लिए महिलाओं द्वारा रखे जाने वाले जीवित्पुत्रिका व्रत पर विशेष!

स्पेशल डेस्क।
राजकुमार अश्क़
तहलका 24×7
                        नगर के विभिन्न देव स्थलों पर महिलाओं ने पुत्र की लम्बी आयु के लिए जीवित्पुत्रिका व्रत रख कर भगवान जीउतवाहन की पूजा अर्चना की। जिसमें व्रती महिलाओं ने पूरे विधि-विधान से भगवान जीउतवाहन की पूजा करके अपने पुत्र को दीर्घायु होने के लिए वरदान देने की कामना की। इस व्रत में व्रती महिलाएँ पूरे दिन निराजल व्रत रखती है तथा शाम के समय किसी देव स्थान या पवित्र स्थान पर एकत्र होकर पूजा करती है, जिसमें महिलाओं द्वारा भगवान जीउतवाहन की कथा का श्रवण किया जाता है और विभिन्न प्रकार के लोकगीतों के माध्यम से भगवान जीउतवाहन के गुणों का बखान किया जाता है।
इस व्रत का सम्बन्ध महाभारत काल से भी माना जाता है जिस समय महाभारत का युद्ध चल रहा था उस समय अश्वत्थामा अपने पिता की मृत्यु का बदला लेने के लिए अभिमन्यु के पुत्र को गर्भ में ही मारा डाला था जो उस समय अभिमन्यु की पत्नी उत्तरा की गर्भ में था, जब यह बात श्रीकृष्ण को मालूम हुई तो उन्होंने अपने पुण्य कर्म से उत्तरा के पुत्र को जीवित कर दिया जिसका नाम बाद में जीवित्पुत्रिका पडा़, इसी जीवित्पुत्रिका का व्रत रखकर महिलाएँ अपने पुत्र की लम्बी आयु की कामना करती है।
दूसरी कथा एक चील तथा एक सियारिन से जुड़ी हुई मानी जाती है, जिसमें कुछ महिलाओं को इस व्रत को करते हुए चील और सियारिन भी इस व्रत को करने का निश्चय करती है मगर सियारिन अपने व्रत को पूर्ण नहीं कर पाती मगर चील अपने व्रत को पूर्ण कर लेती है अगले जन्म में दोनों सहेलियाँ एक ब्राह्मण के घर जन्म लेती है और शादी योग्य होने पर दोनों की शादी कर दी जाती मगर प्रारब्ध के कारण सियारिन को जो भी संतान होती सब मृत्यु को प्राप्त हो जाते थे मगर चील के सात पुत्र हुए और सभी जीवित रहते हैं। इर्ष्या बस षड्यंत्र रच कर उसने अपनी बहन के सातों पुत्रों की हत्या करवा देती मगर भगवान जीउतवाहन की कृपा से उसके सभी पुत्र जीवित हो जाते हैं उसी कथा के उपलक्ष्य में महिलाएँ व्रत रखने अपने पुत्र की लम्बी आयु कु कामना करती है।
Previous articleजौनपुर : बदमाशों ने बैंक मित्र से छीना रुपये से भरा बैग
Next articleजौनपुर : दबंगों ने गरीब के आशियाने पर चलाया बुलडोजर, किया अवैध कब्जा
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏