पुलिस पर हमला कर हिस्ट्रीशीटर को छुड़ाने वाला भाजपा नेता समेत तीन गिरफ्तार

पुलिस पर हमला कर हिस्ट्रीशीटर को छुड़ाने वाला भाजपा नेता समेत तीन गिरफ्तार

# हिस्ट्रीशीटर को भी पुलिस ने किया गिरफ्तार, नेता को भाजपा ने निकाला पार्टी से

लखनऊ/कानपुर।
विजय आनंद वर्मा
तहलका 24×7
                 कानपुर में पुलिस टीम पर हमला करके हिस्‍ट्रीशीटर मनोज सिंह को छुड़ाने के बाद से फरार चल रहे भाजपा नेता नारायण सिंह भदौरिया, एडवोकेट गोपाल शरण सिंह व राॅकी यादव को आज पुलिस ने नोएडा से गिरफ्तार कर लिया। बताया जा रहा है कि तीनों एक साथ नोएडा जाकर छिपे थे। वहीं हिस्ट्रीशीटर मनोज सिंह को भी आज कानपुर के नौबस्ता मोहल्ले से गिरफ्तार कर लिया गया। पूरे मामले का वीडियो वायरल होने के बाद भाजपा और पुलिस की काफी किरकिरी हो रही थी। भाजपा नेता नारायण भदौरिया को पहले पद से हटाया गया और आज उसे पार्टी से भी निकाल दिया गया।
वकील पुलिस कमिश्नर से मिलने पहुंचे
दूसरी ओर आज ही दिन में लायर्स व बार एसोसिएशन के पदाधिकारियों के एक प्रतिनिधि मंडल ने पुलिस कमिश्नर असीम अरुण से मिलकर उन्हे ज्ञापन सौंपकर कहा था कि वीडियो में दिख रहे अधिवक्ता धीरु शर्मा व गोपाल शरण सिंह का हिस्ट्रीशीटर को छुड़वाने की घटना से कोई संबंध नहीं है। वकीलों ने सफाई दी कि उक्त दोनों लोगों की मौके पर मौजूदगी जिज्ञासा वश थी। लेकिन पुलिस कमिश्नर असीम अरुण ने स्पष्ट कहा कि वीडियो में दिखाई दे रहे सभी व्यक्तियों पर कार्यवाही होगी।

हिस्ट्रीशीटर मनोज सिंह आया पुलिस की गिरफ्त में
बताते चलें कि कानपुर के नौबस्ता थाना क्षेत्र स्थित किदवईनगर स्थित एक गेस्ट हाउस के बाहर से 2 जून को पुलिस की हिरासत से 25 हजार के इनामी हिस्ट्रीशीटर मनोज सिंह को छुड़ा लिया गया था, वह कानपुर दक्षिणी से भाजपा के जिला मंत्री नारायण सिंह भदौरिया की जन्म दिन की पार्टी में शामिल होने गया था। लगभग 100-150 लोगों की भीड़ ने हिस्ट्रीशीटर को पुलिस जीप से उतार लिया था, कुछ लोग जीप के आगे लेट गए थे।
भाजपा जिला मंत्री को पार्टी से निकाला गया
उस्मानपुर चौकी प्रभारी की ओर से इस मामले में हिस्ट्रीशीटर मनोज सिंह समेत 9 नामजद तथा 10 अज्ञात के खिलाफ बर्रा पुलिस ने घटना के बाद 147 (बलवा), 353 (लोकसेवक को भय दिखा कर बाधा डालना), 332 (जान बूझकर लोकसेवक को चोट पहुंचाना), 224 (आरोपित द्वारा अवैध बाधा डालना), 188 (पब्लिक सर्वेंट द्वारा जारी आदेश को न मानना), 269 (संक्रमित रोग फैलाना) में एफआईआर दर्ज की गई है।

पुलिस कमिश्नर: किसी दोषी को नहीं बख्शा जाएगा

# हिस्ट्रीशीटर मनोज सिंह के खिलाफ 27 मुकदमे…

हिस्ट्रीशीटर मनोज सिंह रिटायर सिपाही का बेटा है। वह बर्रा थाने का टॉप-10 अपराधी है। उसके खिलाफ बर्रा सहित विभिन्न थानों में 27 मुकदमें पंजीकृत हैं। पिछले महीने जरौली में एक घर के बाहर लगे सीसीटीवी कैमरे चोरी करने में भी उसके खिलाफ रिपोर्ट हुई थी। पुलिस आयुक्त असीम अरुण ने बताया कि हिस्ट्रीशीटर मनोज सिंह को नौबस्ता से गिरफ्तार कर लिया गया है। उन्होने बताया कि 12 व्यक्तियों को चिह्नित किया गया है, इनमें से रणधीर सिंह तोमर, नारायण सिंह भदौरिया, रॉकी यादव और गोपाल शरण चौहान से पूछताछ के बाद न्यायालय में पेश किया जायेगा।
Previous articleवाराणसी : एयरपोर्ट के पास वीभत्स हादसे में एक बाइक सवार की दर्दनाक मौत
Next articleजौनपुर : जेल में सजायाफ्ता कैदी की मौत होने से मचा हड़कंप
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏