पूर्वांचल में मंगलवार से हो रही बारिश से जनजीवन बेहाल

पूर्वांचल में मंगलवार से हो रही बारिश से जनजीवन बेहाल

# मकान गिरने से छह की मौत, सात घायल, कई जगह बिजली आपूर्ति ठप

वाराणसी।
मनीष वर्मा
तहलका 24×7
              पूर्वांचल (वाराणसी, विंध्याचल एवं आजमगढ़ मंडल) में मंगलवार की रात्रि से लगातार हो रही बारिश ने भारी तबाही मचाई है। मकान गिरने से जौनपुर में चार और बलिया एवं आजमगढ़ में एक-एक महिला की मौत हो गई वहीं सात से ज्यादा लोग घायल हो गए। कई जगहों पर पेड़ और बिजली के खंभों के गिर जाने से बिजली आपूर्ति ठप्प हो गई।

भदोही में दो दिनों में सर्वाधिक 137 मिमी वर्षा रिकार्ड की गई। ज्ञानपुर में ब्रेकर जलने से करीब 14 घंटे तक पूरे शहर की बिजली आपूर्ति ठप्प रही। मौसम वैज्ञानिक एसएन पांडेय के मुताबिक अभी दो दिन तक ऐसे ही मौसम बने रहने के आसार हैं। बारिश से अरहर और तिलहन की फसल को फायदा होगा वहीं सब्जियों की खेती को भारी नुकसान हुआ है।
वाराणसी में पिछले 24 घंटे में 105 मिमी वर्षा रिकॉर्ड की गई। बीएचयू अस्पताल परिसर सहित शहर में कई मुहल्लों में जलभराव से लोग परेशान रहे। लोकल फॉल्ट, तार टूटकर गिरने से बिजली आपूर्ति घंटों बाधित रही। जौनपुर में दो स्थानों पर मकान गिरने से चार लोगों की मौत हो गई है। इनमें एक ही परिवार से तीन लोगों की मृत्यु हुई है जबकि 5 लोग घायल हुए हैं।

बलिया के के संवरुपुर में बुधवार को घर की दीवार गिरने से एक महिला की मौत हो गई दो लोग घायल हो गए। वहीं आजमगढ़ जिले के निजामाबाद थाना क्षेत्र के रानीपुर चक नोनिया गांव में कच्चे मकान की दीवार गिर गई। मलबे में दब कर 60 वर्षीय कुंती देवी की मौत हो गई। मिर्जापुर के अर्जुनपुर व खोराडीह में कच्चे मकान गिरने की सूचना है। सोनभद्र में बारिश से नदी-नाले उफना गए हैं। आजमगढ़ में दो दिनों में 39 मिलीमीटर बारिश रिकार्ड की गई। बृहस्पतिवार को दिनभर रिमझिम बारिश होती रही है। 

# दो दिनों में यहां हुई इतनी बारिश

भदोही    137 मिमी
वाराणसी 105 मिमी
जौनपुर    27.12 मिमी
बलिया    12.10 मिमी
मिर्जापुर    55.00 मिमी
गाजीपुर    12.00 मिमी
आजमगढ़ 39.73 मिमी
सोनभद्र    68.60 मिमी    
Previous article11 वर्ष पूर्व गर्भवती बहू और पोती की नृशंस हत्या के मामले में सास समेत दो को मृत्युदंड
Next articleबदलते परिवेश में दांतों के साथ मसूढ़ों का कैसे रखें ख्याल ?
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏