प्रतापगढ़ : एफपीओ के गठन के लिए किसान गोष्ठी का हुआ आयोजन

प्रतापगढ़ : एफपीओ के गठन के लिए किसान गोष्ठी का हुआ आयोजन

# कृषि विशेषज्ञ ज्ञानचन्द्र तिवारी ने कहा- आम किसानों को होगा सीधे फायदा

प्रतापगढ़।
तहलका 24×7
            सदर विकास खण्ड के महुली मण्डी में जय ज्ञान एग्री जंक्शन फार्मर प्रोड्यूसर कंपनी लिमिटेड जय ज्ञान नगर, उनुरखा, अखण्ड नगर, सुलतानपुर द्वारा किसान उत्पादक संगठन (एफपीओ) के गठन के लिए किसान गोष्ठी का आयोजन किया गया। जहाँ कृषि विशेषज्ञ ज्ञानचन्द्र तिवारी ने एफपीओ के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि किसान उत्‍पादक संगठन (FPO-Farmer Producer Organisation) इसका रजिस्ट्रेशन कंपनी एक्ट में ही होता है इसलिए इसमें वही सारे फायदे मिलते हैं जो एक कंपनी को मिलते हैं।

एफपीओ के गठन से आम किसानों को सीधे फायदा मिलता है उन्होंने कहा कि जब कोई किसान अकेले कोई काम करता है तो उसे कम फायदा मिलता है और जब किसान एक टीम के साथ कोई उत्पादन करता है तो वह अपने उत्पाद को बड़ी मण्डी में ले जाकर ज्यादा रेट में अपने उत्पादन को बेच कर ज्यादा लाभ प्राप्त कर सकते हैं उन्होंने कहा कि एफपीओ को सरकार की सभी योजनाओं का सीधा लाभ मिलता है एफपीओ किसानों का एक समूह होता है जो कृषि उत्पादन कार्य में लगा होता है और कृषि से जुड़ी व्यावसायिक गतिविधियां चलता है।
उन्होंने कहा कि एफपीओ गठन में कुल दस किसान और उनके आवश्यक कागज की आवश्यकता होती है। कंपनी के कृषि विशेषज्ञ राहुल तिवारी ने बताया कि एफपीओ लघु व सीमांत किसानों का एक समूह होता है, जिससे उससे जुड़े किसानों को न सिर्फ अपनी उपज का बाजार मिलता है बल्कि खाद, बीज, दवाइयों और कृषि उपकरण आदि खरीदना आसान होता है।कृषि से सम्बंधित सभी सेवाएं सस्ती मिलती हैं और बिचौलियों के मकड़जाल से मुक्ति मिलता है।

कंपनी के डायरेक्टर अभिषेक पाण्डेय ने किया एफपीओ के बारे में बताते हुए कहा कि अगर अकेला किसान अपनी पैदावार बेचने जाता है, तो उसका मुनाफा बिचौलियों को मिलता है एफपीओ सिस्टम में किसान को उसके उत्पाद के भाव अच्छे मिलते हैं, क्योंकि यहां बिचौलिए नहीं होते हैं। इससे किसानों की सामूहिक शक्ति बढ़ती है। इस मौके पर एग्री जंक्शन महुली मण्डी के संचालक अनिल शर्मा, शोभित प्रताप सिंह, बाबूलाल मौर्या, संदीप मिश्रा, हबीबुर्रहमान, रामनारायण वर्मा, सन्तलाल, रज्जाक मिश्रा, अजय यादव, आनन्द मोहन, राघवेंद्र सिंह, गोविन्द सिंह, राजेश सिंह, सुजीत वर्मा समेत अन्य किसान मौजूद रहे।
Previous articleमिर्जापुर : महिला सुरक्षा चुनौतियाँ एवं समाधान विषय पर वेबिनार आयोजित
Next articleजौनपुर : बसन्ती देवी आईटीआई के छात्र को निदेशक दिवाकर मिश्र ने किया सम्मानित
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏