बड़े जीवट प्राणी थे बाबू जितेंद्र सिंह.. उनकी वाकपटुता का पूरा क्षेत्र था कायल- ललई

बड़े जीवट प्राणी थे बाबू जितेंद्र सिंह.. उनकी वाकपटुता का पूरा क्षेत्र था कायल- ललई

# श्रद्धा-सुमन अर्पित कर मनाई गई पूर्व पालिकाध्यक्ष की प्रथम पुण्यतिथि

शाहगंज।
रवि शंकर वर्मा
तहलका 24×7
            बड़े जीवट प्राणी थे बाबू जितेंद्र सिंह.. उनकी वाकपटुता का पूरा क्षेत्र कायल था उक्त बातें पूर्व मंत्री व विधायक शैलेंद्र यादव ललई ने पूर्व पालिकाध्यक्ष बाबू जितेंद्र सिंह की प्रथम पर पुण्यतिथि पर आयोजित श्रद्धांजलि समारोह के दौरान श्रद्धा-सुमन अर्पित करते हुए कही।

नगर के बुढ़वा बाबा मंदिर प्रांगण में पूर्व पालिकाध्यक्ष जितेंद्र सिंह की प्रथम पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि समारोह में क्षेत्र के तमाम जनप्रतिनिधि, समाजसेवी एंव व्यापारीगण मौजूद रहे। इस अवसर पर पूर्व पालिकाध्यक्ष ओमप्रकाश जायसवाल ने कहा कि बाबू जितेंद्र सिंह की पहचान नगर के प्रमुख व्यापारी एंव जुझारू जनप्रतिनिधि के रूप में थी। वहीं बसपा नेता विक्रम सिंह ने कहा कि बाबू जितेंद्र सिंह की पकड़ जमीनी थी और इसी का नतीजा है कि उन्हें सर्वधर्म और सर्वसमाज का स्नेह मिला। स्व. जितेंद्र सिंह के बड़े पुत्र ब्रिगेडियर प्रेमजी सिंह एंव इ. विरेन्द्र सिंह ‘बंटी’ ने सभी आगंतुकों का आभार व्यक्त किया।

इस दौरान सुजीत जायसवाल लल्लन यादव, रविकांत यादव, ताड़क अग्रहरि, संतोष कुमार बब्लू, काशी नाथ अग्रहरि, संतोष अग्रहरि, जगदीश प्रसाद, अरशद अंसारी, एखलाख अंसारी, अवनीश विक्रम सिंह, विकास चौधरी, रमेश चंद्र बरनवाल, रामप्रसाद मोदनवाल, विशाल यादव, एजाज अली, गुलाम साबिर, एख़लाक खान, विशाल जायसवाल, इकरार खान, अजय सिंह समेत तमाम लोगों ने श्रद्धा-सुमन अर्पित किया।
Previous articleजौनपुर : गोलियों की गूंज से दहल उठा केराकत, पुरानी रंजिश में चली गोली
Next articleजौनपुर : सर्प दंश से बालक की मौत, परिजनों में मचा कोहराम
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏