बढ़ते कोरोना के चलते राजस्थान में संपूर्ण लाॅकडाउन, विवाह समारोहों पर भी रोक

बढ़ते कोरोना के चलते राजस्थान में संपूर्ण लाॅकडाउन, विवाह समारोहों पर भी रोक

# घर पर शादी व कोर्ट मैरिज की छूट, एक शहर से दूसरे शहर जाने पर रोक

# मुख्यमंत्री की अपील- पूजा, अर्चना, इबादत व प्रार्थना घर पर ही करें

लखनऊ/जयपुर।
विजय आनंद वर्मा
तहलका 24×7
                  कोरोना के तेजी से बढ़ते मामलों के बीच राजस्थान सरकार ने राज्य में संपूर्ण लॉकडाउन का एलान कर दिया है। राज्य में 10 मई सुबह 5 बजे से 24 मई सुबह 5 बजे तक सख्त लॉकडाउन लागू रहेगा। वहीं इसके साथ ही 31 मई तक शादियों समारोह पर भी पाबंदी लगा दी गई है। संक्रमण को रोकने के लिए राज्य में महामारी रेड अलर्ट जन अनुशासन पखवाड़ा चल रहा है, बावजूद इसके कोरोना संक्रमण काबू में नहीं आ रहा। मुख्यमंत्री ने आमजन से अपील है कि पूजा-अर्चना, इबादत, प्रार्थना घर पर रहकर ही करें।
लाॅकडाउन के दौरान सभी प्रकार के धार्मिक स्थल बंद रहेंगे। विवाह से संबंधित किसी भी प्रकार के समारोह, डीजे, बारात एवं निकासी तथा प्रीतिभोज आदि की अनुमति 31 मई तक नहीं होगी। विवाह घर पर ही अथवा कोर्ट मैरिज के रूप में ही करने की अनुमति होगी, जिसमें केवल 11 व्यक्ति शामिल हो सकते हैं। जिसकी सूचना सरकार के वेब पोर्टल पर देनी होगी। विवाह में बैण्ड-बाजे, हलवाई, टैन्ट या इस प्रकार के अन्य किसी भी व्यक्ति के सम्मिलित होने की अनुमति नहीं होगी। शादी के लिए टेन्ट हाउस एवं हलवाई से संबंधित किसी भी प्रकार के सामान की होम डिलीवरी भी नहीं की जा सकेगी। मैरिज गार्डन, मैरिज हॉल एवं होटल परिसर को शादी-समारोह के लिए बंद रहेंगे। बारात के आवागमन के लिए बस, ऑटो, टैम्पो, ट्रेक्टर, जीप आदि की अनुमति नहीं होगी। शादी के अलावा भी किसी भी प्रकार के सामूहिक भोज की अनुमति नहीं होगी।
ग्रामीण क्षेत्रों में श्रमिकों के संक्रमित होने के मामले सामने आए हैं, इसे देखते हुए मनरेगा के कार्य स्थगित रहेंगे। जिलों में आवागमन पर रोक, सार्वजनिक परिवहन नहीं मिलेगा। मेडिकल सेवाओं के अतिरिक्त सभी प्रकार के निजी एवं सरकारी परिवहन के साधन जैसे- बस, जीप आदि पूरी तरह बंद रहेंगे। राज्य में मेडिकल, अन्य इमरजेंसी एवं अनुमत श्रेणियों को छोड़कर एक जिले से दूसरे जिले, एक शहर से दूसरे शहर, शहर से गांव, गांव से शहर और एक गांव से दूसरे गांव में सभी प्रकार के आवागमन पर पूर्ण प्रतिबंध रहेगा।
Previous articleकोरोना की दूसरी लहर में भाजपा के एक और विधायक का निधन
Next articleजौनपुर : लॉकडाउन का उल्लंघन करने वालों पर चला प्रशासन का डंडा
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏