बदलते परिवेश में दांतों के साथ मसूढ़ों का कैसे रखें ख्याल ?

बदलते परिवेश में दांतों के साथ मसूढ़ों का कैसे रखें ख्याल ?

# आईये जानते हैं प्रसिद्ध दंत रोग विशेषज्ञ डॉ सूर्यभान यादव से…

स्पेशल डेस्क।
रवि शंकर वर्मा
तहलका 24×7
              मौसम के बदलते परिवेश में हमें अनेकों बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है और हर बीमारी की शुरुआत मुंह से ही होती है इसलिए मुंह की सफाई के साथ-साथ दांतों का भी विशेष ख्याल रखना जरूरी है। मुंह के अंदर तमाम तरह के बैक्टीरिया, वायरस, फंगल का बसेरा बना रहता है अगर ठीक तरह से इनको साफ़ न किया जाए तो यह मुंह से होतें हुए हमारे पेट में पहुंच कर हमारी आंतों पर हमला करना शुरू कर देते हैं जिससे तमाम तरह की बीमारियों के होने का खतरा बढ़ जाता है, इसलिए हमें ओरल कैबिटी का ध्यान रखते हुए अपने दांतों पर विशेष ध्यान देने की जरूरत होती है।

दांत हमें सिर्फ खाने में ही सहायक नहीं होतें है बल्कि बोलने, मुस्कुराने, और चेहरे की सुन्दरता को बढ़ाने में भी बहुत सहायक होतें हैं। इस कोरोना काल में तो हमें अपने दांतों और मसूढ़ों का विशेष ध्यान रखने की आवश्यकता है, क्योंकि मसूढ़ों में संक्रमण फैलाने वाले वायरस और फेफड़ों में वायरस फैलाने वाले वायरस दोनों एक ही है, इसलिए कोरोना से रिकवर होने वाले मरीजों को तो अपने दांतों तथा मुंह का विशेष ध्यान रखने की आवश्यकता है, समय-समय पर अपने दांतों की सही इलाज जैसे दांतों की सफाई, मसाला भरवाना, नसों का ईलाज RCT कर उसमें संक्रमण फैलने से रोका जा सकता है उक्त बातें धनवंतरि हेल्थ एण्ड डेण्टल केयर/इम्पलांट सेंटर के डायरेक्टर डॉ सूर्यभान यादव BDS, MDS ने “तहलका 24×7” से एक विशेष बातचीत में बताई।

तुलसी धनधान्य शरीर का उदाहरण देते हुए कहा कि अगर आपका दांत स्वस्थ हैं तो तभी आप जीवन के सारे आनंद उठा सकते हैं उन्होंने आगे बताया कि हम कैसे दांतों की सफाई तथा ओरल कैबिटी करके मुंह को साफ़ रख सकते हैं। कई सारे अध्ययन के बाद यह पता चला है कि दांतों की नियमित सफाई अनियमित धड़कन, हार्ट फेल होने के खतरे को काफी हद तक कम करता है, क्योंकि जो बैक्टीरिया रक्त में जाकर ये खतरा बढ़ाते हैं अगर हम उन्हें साफ़ करते रहेगें तो इस गंभीर बीमारी से अपने आपको बचा सकते हैं।

# कुछ भी खाने पीने के बाद अपने मुंह को अच्छी तरह साफ करें।
# मुंह सम्बन्धित किसी प्रकार की तकलीफ को हल्के में न लें।
# तुरंत चिकित्सक से परामर्श करें।
# चिकित्सक की सलाह पर अच्छे माउथवॉश का प्रयोग करें।
# चिकित्सा द्वारा दिये गये चिकित्सकीय सलाह को पूरे मनोयोग से मानें।
# जरूरत पड़ने पर X-ray, RCT, Feelings, Tooth Cap आदि कराकर स्वस्थ रहें।
Previous articleपूर्वांचल में मंगलवार से हो रही बारिश से जनजीवन बेहाल
Next articleजौनपुर : भाजपा महिला मोर्चा ने किया मरीजों को फल वितरण
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏