बिकरू कांड : विकास दुबे के कैशियर के साथ यूपी के अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी की फोटो मिलने से बढ़ी सरगर्मी

बिकरू कांड : विकास दुबे के कैशियर के साथ यूपी के अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी की फोटो मिलने से बढ़ी सरगर्मी

# रिटायर्ड आईपीएस अमिताभ ठाकुर की शिकायत पर केंद्र ने दिया जांच का आदेश

लखनऊ/कानपुर।
विजय आनंद वर्मा
तहलका 24×7
               उत्तर प्रदेश के कानपुर में 11 पुलिसवालों की हत्या करने वाले विकास दुबे का कनेक्शन प्रदेश के अपर मुख्य सचिव (ACS) गृह अवनीश अवस्थी तक जुड़ने लगा है। अवनीश अवस्थी और विकास दुबे के कैशियर जय बाजपेयी की एक फोटो सामने आई है। तस्वीर अवनीश अवस्थी की बेटी की शादी की है, जिसमें खुद अवनीश अवस्थी जय बाजपेयी के साथ जयमाल के स्टेज पर दिख रहे हैं।

अवनीश अवस्थी के खिलाफ हुई शिकायत पर केंद्र सरकार ने दिया जांच का आदेश
इस फोटो में कॉमेडियन अन्नू अवस्थी भी दिख रहे हैं। फोटो सामने आने के बाद रिटायर्ड आईपीएस (IPS) अमिताभ ठाकुर ने इसकी शिकायत केंद्र सरकार से कर दी। केंद्र सरकार ने मामले की जांच प्रमुख सचिव को सौंपी है। उधर, इस मामले में जब अवनीश अवस्थी से सवाल किया गया तो उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया।

केंद्र सरकार ने अवनीश अवस्थी के खिलाफ हुई शिकायत के लिए जांच के आदेश दिए हैं। केंद्र सरकार ने अवनीश अवस्थी के खिलाफ हुई शिकायत के लिए जांच के आदेश दिए हैं।
शिकायत कर्ता पूर्व आईपीएस अधिकारी अमिताभ ठाकुर

# अवनीश अवस्थी की बेटी की शादी में गया था जय वाजपेयी

वायरल फोटो जनवरी की बताई जा रही है। इसमें प्रदेश के अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी की बेटी की शादी में जय बाजपेयी अवस्थी के साथ जयमाल के स्टेज पर नजर आ रहा है। पुलिस ने इस मामले की पड़ताल की तो पता चला कि जय बाजपेयी शादी में आमंत्रित एक मेहमान के साथ आया था। उसका अवनीश अवस्थी से सीधा कोई संपर्क नहीं है।

लेकिन पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर ने अवनीश अवस्थी के जय से कनेक्शन की जांच के लिए अप्रैल में केंद्र सरकार को शिकायत पत्र भेज दिया। इसका संज्ञान लेकर विभाग ने मामले की जांच का आदेश मुख्य सचिव राजेंद्र तिवारी को दिया है। अपर मुख्य सचिव के खिलाफ हुई शिकायत पर उनसे बात करने के प्रयास पर वह टाल गए।

वहीं अमिताभ ठाकुर का कहना है कि प्रदेश की सबसे बड़ी घटना के आरोपी जय बाजपेयी का अपर मुख्य सचिव के साथ नजर आना गंभीर बात है। मामले की जांच भी उतनी ही गंभीरता और निष्पक्षता के साथ होनी चाहिए।

# 2 जुलाई की रात वीभत्स घटना में 11 पुलिसवालों का हुआ था संहार

कानपुर के बिकरु गांव के गैंगेस्टर विकास दुबे को पकड़ने गई पुलिस पर 2 जुलाई की रात हुई फायरिंग में 11 पुलिसवाले मारे गए थे। इसके बाद नाटकीय अंदाज में 10 जुलाई को पुलिस ने हत्याकांड के मुख्य आरोपी विकास दूबे को एनकाउंटर में मार दिया था।

जांच में विकास दुबे के कैशियर जय बाजपेयी का नाम सामने आया। पुलिस की छानबीन में पता चला कि जय बाजपेयी विकास दुबे के रुपए-पैसों का हिसाब रखता था। उसके अलग-अलग खातों से करोड़ों रुपये और संपत्तियां मिली। उसके खिलाफ धोखाधड़ी और अपराधिक मामलों में कई मुकदमें भी दर्ज पाए गए। इसके बाद पुलिस ने 20 जुलाई को जय बाजपेयी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था।
Previous article50 लीटर दूध दुहवा लो, 500 गोबर का गोइंठा बनवा लो…
Next articleजौनपुर : पत्रकार अमित सिंह को बनाया गया अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा का मीडिया प्रभारी
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏