बेटे के साथ मिलकर अध्यापक ने एक महिला को उतारा मौत के घाट

बेटे के साथ मिलकर अध्यापक ने एक महिला को उतारा मौत के घाट

# आरोपी ने कहा- 7 लाख हड़पने के बाद करती थी ब्लैकमेल, दो बार तुड़वाया बेटी का रिश्ता

लखनऊ/प्रयागराज।
विजय आनंद वर्मा
तहलका 24×7
              प्रयागराज निवासी एक शिक्षक ने अपने बेटे और साथी के साथ मिलकर एक महिला की हत्या कर दी। हत्या के बाद शव को ठिकाने लगाने के लिए मध्यप्रदेश के सतना जिले के मझगवां थाना के क्रशर प्लांट के पास फेंक दिया। शव पहचान में न आए, इसलिए चेहरा पत्थरों से कुचल दिया। बताया जाता है कि महिला टीचर को ब्लैकमेल कर रही थी। उसने 7 लाख रुपए जमीन दिलाने के नाम पर हड़प लिए थे। इससे तंग आकर शिक्षक ने आत्महत्या की कोशिश की थी, लेकिन बेटे ने देख लिया और उसे बचा लिया। बाद में शिक्षक ने प्लान कर महिला को चित्रकूट और मैहर घुमाने के बहाने ले आया और उसे मार डाला।
यूपी-एमपी सीमा से सटे मझगवां थाना क्षेत्र में तीन जून को महिला का शव मिला था। पुलिस ने बताया कि शव की तलाशी में महिला की पैंट की जेब से दो पासपोर्ट साइज की फोटो मिले थे। साथ ही दो पर्चियां भी मिलीं, जिस पर मीना बेगम व कमलेश ​छटवा लिखा था। इसी पर्ची के पीछे गांव छटवा सिरसा सुनील तिवारी लिखा था। शव के पास के घड़ी और जेब से 1400 रुपए भी मिले थे। महिला की उम्र करीब 30 साल के आसपास थी। बॉर्डर एरिया होने की वजह से पुलिस की एक टीम जांच के लिए प्रयागराज गई।

# पत्रकार ने पहचानी फोटो

प्रयागराज में मामले की जांच कर रही टीम की मुलाकात एक पत्रकार से हुई। पुलिस ने जैसे ही मांडा थाना क्षेत्र के पत्रकार को फोटो दिखाई तो उसने महिला का नाम पता और घर तक बता दिया। शव की पहचान जहरूनिशा उर्फ जोहरा पति मोहम्मद अमजल निवासी भारतगंज चिकान मोहल्ला वार्ड 7 थाना मांडा जिला प्रयागराज के रूप में हुई। जेब से मिले फोटो की पहचान गिरीशचन्द्र मिश्रा पुत्र स्व. राधेश्याम मिश्रा (53) निवासी भवानीपुर थाना मांडा जिला प्रयागराज के रूप में हुई।

# पहले भी ऐंठ चुकी थी 50 हजार

इसके बाद पुलिस ने इंटर कॉलेज में पढ़ाने वाले शिक्षक गिरीश चंद्र मिश्रा को हिरासत में ले लिया। पूछताछ में गिरीश चंद्र ने बताया कि महिला से पहला परिचय तब हुआ था, जब वो अपने बेटे का एडमिशन कराने स्कूल आई थी। इसके बाद महिला से मुलाकात भी होने लगी। इस दौरान हम दोनों के बीच अवैध संबंध भी बने। इस बीच महिला ने जमीन दिलाने के एवज में 7 लाख रुपए ले लिए फिर वह मुझे ब्लैकमेल करने लगी।

# ऐसे की हत्या

टीचर ने बताया कि जहरूनिशा ने मेरी बेटी की शादी में भी अड़चन डाली। दो बार शादी भी टूट गई। पिछले साल बेटी के शादी के पहले 50 हजार रुपए दबाव बनाकर लिए थे। महिला के रुपए न देने के बाद उसने हत्या की साजिश रची। फिर पश्चिम बंगाल नंबर की कार (WB 02 AR 2500) से उसे घूमाने के बहाने चित्रकुट और मैहर ले आया। कार में मेरा बेटा और मेरा साथी भी था। इसी दौरान रास्ते में कोल्डड्रिंक में नींद की गोली देने के बाद महिला की गला घोंट दिया। फिर सुनसान इलाका देख महिला के शव को फेंका और उसकी पहचान न हो, इसलिए पत्थरों से उसका चेहरा कुचल दिया। मामले में टीचर का बेटा और साथी अभी फरार है।
Previous articleकानपुर में बड़ा हादसा : हाईवे पर बस और टेम्पो की टक्कर से 17 की दर्दनाक मौत
Next articleसनकी आशिक : भाभी से एकतरफा प्यार में पागल देवर कुएं में कूदा, ग्रामीणों ने बचाई जान
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏