बैंक मैनेजर हत्याकांड : एक करोड़ रुपये कमाने का लालच देकर करीबियों ने कराई हत्या

बैंक मैनेजर हत्याकांड : एक करोड़ रुपये कमाने का लालच देकर करीबियों ने कराई हत्या

वाराणसी।
मनीष वर्मा
तहलका 24×7
             पिंडराई में बुधवार की शाम बैंक प्रबंधक फूलचंद राम की हत्या उनके करीबियों ने ही कराई थी। लोभ और लालच देकर बैंक प्रबंधक को धोखे से बुलाया गया और भाड़े के बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी। हत्याकांड का मास्टरमाइंड सोनभद्र का एक कारोबारी है। उसकी तलाश में पुलिस की टीमें सोनभद्र, मिर्जापुर, चंदौली, बिहार तक दबिश दे रही है।

वहीं शूटरों और मास्टरमाइंड के बारे में पुलिस को पुख्ता जानकारी मिली है। शूटरों के एकदम करीब पहुंची पुलिस के अनुसार दस संदिग्धों को उठाकर पूछताछ की जा रही है। पुलिस के अनुसार बैंक प्रबंधक के एक परिचित ने सोनभद्र के एक कारोबारी से मुलाकात कराई थी।

बातचीत के दौरान मास्टरमाइंड ने बैंक प्रबंधक को एक करोड़ रुपये कमाने का लालच देकर 50 लाख रुपये लेकर छावनी स्थित एक होटल में बुलवाया था और कहा था कि इसके एवज में एक करोड़ रुपये मिलेंगे। इसी लोभ और लालच में आकर पीएनबी के बैंक प्रबंधक पिछले दो दिन से धन एकत्रित करने की व्यवस्था में लगे थे।

वारदात वाले दिन सुबह 11 बजे बैंक प्रबंधक जौनपुर स्थित मडिय़ाहूं शाखा से 41 लाख रुपये निकाले और लेकर करखियांव स्थित ब्रांच आए थे। यहां से भी कैशियर की मिलीभगत से छह लाख रुपये और निकाले। दो बैगों में रुपये लेकर बैंक प्रबंधक दिन ढलने के बाद एक एजेंट को फोन करके शहर जाने के लिए स्कार्पियो गाड़ी मंगवाई। इसके बाद एजेंट और चालक के संग करखियांव ब्रांच से प्रबंधक निकले थे।

# व्यवस्था पर उठे सवाल, बैंक ने प्रबंधक को कैसे दे दिए 47 लाख

बैंकों में कैश का लेनदेन हमेशा नियमों पर होता है। इन सबके बीच करखियाव के पंजाब नेशनल बैंक की शाखा में जो भी कुछ हुआ, उसमें कहीं न कही नियम-कायदे को भी भूला दिया गया। बिना जरूरी औपचारिकताओं के पूरा किए लाखों रुपये कैसे दिया गया, इससे व्यवस्था पर भी सवाल खड़ा होता है। कैशियर ने भी आखिर इतनी बड़ी रकम कैसे दे दी। अब यह तो जांच पूरी होने के बाद ही ही स्पष्ट हो पाएगा लेकिन प्रथम दृष्टया जो बात सामने आ रही है, उसके हिसाब से बैंक के अधिकारी भी इसे नियम विरुद्ध बता रहे हैं।

पंजाब नेशनल बैंक की करखियांव शाखा के जिस ब्रांच मैनेजर की गोली मारकर हत्या हुई, उसने अपनी ब्रांच से छह लाख रुपये, जबकि मड़ियाहूं शाखा से भी 41 लाख रुपये कैश लिया था। बैंक से जुड़े सूत्रों के मुताबिक बैंक मैनेजर ने करखियांव शाखा में कैशियर से जो छह लाख रुपये मांगे, उसे उसी दिन बैंक में जमा करने की बात कही थी। इसी भरोसे पर कैशियर ने छह लाख रुपये दिया। कुछ इसी तरह की कहानी मड़ियाहूं शाखा से भी जुड़ी है।

पीएनबी के सर्किल हेड राजेश कुमार ने कहा पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है। प्रथम दृष्टया तो यही बात सामने आ रही है कि कैशियर ने भरोसे पर ही ब्रांच मैनेजर को धन दिया है। मैनेजर ने रुपये लेने के बाद तुरंत लौटाने की बात कही थी। इसके बाद घटना घट गई। इसमें नियमों की अवहेलना भी की गई है। उच्चाधिकारियों को इसकी जानकारी दी जाएगी।

# अज्ञात के खिलाफ अपहरण और हत्या का एफआइआर दर्ज

पंजाब नेशनल बैंक की करखियांव शाखा के प्रबंधक फूलचंद राम की पत्नी ने अज्ञात बदमाशों के खिलाफ फूलपुर थाने में अपहरण व हत्या का मुकदमा दर्ज कराया है। पुलिस इस मामले में नौ लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। उधर, पोस्टमार्टम के बाद गुरुवार की शाम बैंक प्रबंधक के शव का अंतिम संस्कार कर दिया गया। हालांकि पुलिस का दावा है कि बैंक प्रबंधक ने सभी रुपये करखियांव शाखा से ही निकाले थे, इसमें से 27 लाख रुपये फूलपुर थाने में बृहस्पतिवार को जमा करा दिया गया है। हालांकि मामले की जांच चल ही रही है। 
Previous articleलाचारी ! यूपी के 5 जिलों के एसपी ने पद छोड़ने के लिए लिखी अफसरों को चिट्ठी…
Next articleजौनपुर : बदमाशों ने युवक को गोली मारकर लूटी बाइक, सोने की चैन व अंगूठी
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏