“योगीराज के साढ़े चार साल बेमिसाल” को पलीता लगाता आजमगढ़ का जिला अस्पताल

“योगीराज के साढ़े चार साल बेमिसाल” को पलीता लगाता आजमगढ़ का जिला अस्पताल

# ग्लूकोज चढ़ाने के लिए नहीं था स्टैंड, नाना के इलाज के लिए घंटों बोतल लेकर खड़ी रही मासूम..

आजमगढ़।
फैज़ान अहमद
तहलका 24×7
                       जिला अस्पताल में एक मासूम बच्ची को अपने नाना के इलाज के लिए बोतल स्टैंड बनकर खड़ा होना पड़ा। अस्पताल में स्टैंड न होने की वजह से बच्ची बोतल हाथ में लेकर खड़ी हो गई, और नाना को ग्लूकोज चढ़ाया गया। यह वाक्या योगी आदित्यनाथ के दम्भ भरते सुशासन और चहुमुंखी विकास को आइना दिखा रहा है। एक तरफ योगीराज के जनप्रतिनिधि भाजपा सरकार के “साढ़े चार साल बेमिसाल” की उपलब्धियां बताते थक नहीं रहे हैं वहीं आजमगढ़ जिला अस्पताल कर्मी इस प्रकार की लापरवाही दिखा कर सरकार दम्भ को पलीता लगा रहे हैं।
जानकारी के अनुसार, जहानागंज थाना क्षेत्र के बड़उसा बुजुर्ग गांव निवासी दशरथ सिंह (60) पुत्र स्व. हरिनरायण सिंह का गांव में पड़ोसी से भूमि विवाद चल रहा है। मामला न्यायालय में विचाराधीन है इसके बाद भी पड़ोसी जब विवादित जमीन स्थित मंदिर को तोड़ने लगे तो विवाद हो गया और पड़ोसियों ने लाठी डंडे से हमला बोल दिया जिससे दशरथ सिंह गम्भीर रूप से घायल हो गए।परिजन उन्हें इलाज के लिए लेकर जिला अस्पताल पहुंचे। अस्पताल की इमरजेंसी में डॉक्टर ने देखा और ग्लूकोज की बोतल लगा दी। लेकिन बोतल टांगने के लिए स्टैंड की व्यवस्था नहीं थी, अस्पताल प्रशासन ने बोतल मरीज की 6 वर्षीया नतिनी नैना को थमा दी और चलते बने। नाना के इलाज में मासूम नैना घंटों बोतल स्टैंड बनकर दोनों हाथों में ग्लूकोज की बोतल लेकर खड़ी रही। यह देख लोगों की भीड़ मौके पर जुट गई और कुछ लोगों ने फोटो व वीडियो भी बनाना शुरू कर दिया तब जाकर अस्पताल कर्मी हरकत में आए आनन-फानन बोटल स्टैंड लाकर ग्लूकोज की बोतल उस पर टांग दी।
Previous articleयोगीजी के मंत्रिमंडल का विस्तार, एक कैबिनेट और छह राज्य मंत्री शामिल
Next articleजौनपुर : दादर बाइपास पुल की टूटी रेलिंग व क्षतिग्रस्त पावे दे रहे है मौत को दावत
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏