रेणुकूट चेयरमैन हत्याकांड : चेयरमैन पत्नी और गवाहों को मिल रही धमकी

रेणुकूट चेयरमैन हत्याकांड : चेयरमैन पत्नी और गवाहों को मिल रही धमकी

# आरोपी बना रहे हैं मुकदमा वापस लेने का दबाव, परिजनों ने लगाई सुरक्षा की गुहार

सोनभद्र।
तहलका 24×7
                 नगर पंचायत रेणुकूट की चेयरमैन की पत्नी निशा सिंह ने डीएम को पत्र लिखकर अपने व अपने परिवार और गवाहों के जानमाल की सुरक्षा की गुहार लगाई है। चेयरमैन का आरोप है कि उनके पति की हत्या के आरोपी कुछ लोगों से मुकदमा वापस लेने के लिए धमकी दिलवा रहे हैं। उन्होंने मामले की जांच करा कर धमकी देने वालों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। डीएम अभिषेक सिंह ने एसपी और एडीएम को कार्रवाई के लिए पत्र भेज दिया है।

चेयरमैन की पत्नी ने डीएम को पत्र देकर अवगत कराया है कि विगत 30 सितंबर 2019 को पति चेयरमैन शिव प्रताप सिंह की घर में घुस कर हत्या कर दी गई थी। घटना में शामिल अपराधी व शूटर जेल में हैं लेकिन अपराधियों के कुर्की की कार्रवाई पूरी नहीं हुई है। हत्यारोपी अनिल सिंह के उस घर को कुर्क नहीं किया, जहां से तीनों भाइयों और शूटरों ने मिलकर उनके पति की हत्या की साजिश रची थी।

अपराध में शामिल राकेश मौर्या की दुकान व मकान की भी कुर्की की कोई कार्यवाही नहीं की गई। चेयरमैन निशा सिंह का कहना है कि सभी अपराधी बारी-बारी से बाहर निकलने की जुगत में हैं। वो अपने परिवार के सदस्यों व कुछ अन्य लोगों से गवाह को डराने धमकाने व किसी न किसी मामले में फंसा के गवाही से अलग कर देना चाहते हैं।

घटना में शामिल दर्जनों शूटर जो घटना में रेकी करने आए थे, उसमें से सिर्फ पांच ही घटना में शामिल हुए और बाकी बाहर घूम रहे हैं। अपराधियों के साथी जो पूरी घटना में साथ दे रहे थे गवाह को मानसिक प्रताड़ना देकर डराने, धमकाने और फिर से किसी बड़ी दुर्घटना को अंजाम देने की धमकी दे रहे हैं।

गवाहों और उनके परिवार को इस पूरे केस से हटने के लिए दबाव बना रहे हैं। ऐसा न करने पर शूटरों के साथी जो अन्य प्रांत में घूम रहे हैं उनके माध्यम से मुखबिरी करते हुए पीड़ित परिवार के सदस्य व गवाहों को जान से मरवा सकते हैं। मामले को गंभीरता से लेते हुए डीएम ने एसपी और एडीएम को जांच कर कार्यवाही करने को कहा है।

रेणुकूट के चेयरमैन निशा सिंह ने बताया कि मेरे पति की हत्या कराने वाले जेल में बैठ कर कुछ लोगों से उनके ऊपर केस वापस लेने के लिए दबाव बनवा रहे हैं। लेकिन मैं अपने पति के हत्यारोपियों को सजा दिलवाने के लिए अंतिम दम तक संघष करूंगी। जिलाधिकारी से जान माल की सुरक्षा की गुहार लगाई है।
Previous articleराजधानी एक्सप्रेस के इंजन में लाश का कटा सिर फंसकर पहुंचा स्टेशन, मचा हड़कंप
Next articleइनोवा सवार लोगों ने किराना दुकानदार व पुत्र को उठाया
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏