लखनऊ : 50 हजार के इनामी कथित शराब माफिया को एटीएफ ने किया गिरफ्तार

लखनऊ : 50 हजार के इनामी कथित शराब माफिया को एटीएफ ने किया गिरफ्तार

# कथित कारोबारी संतलाल की गिरफ्तारी से जौनपुर के शराब व्यवसायियों में मचा हड़कंप

# संतलाल तो सिर्फ झांकी है असली मोहरा तो बाकी है, सफेदपोश करते थे संतलाल के नाम से बड़ी गुणा गणित

लखनऊ।
विजय आनंद वर्मा
तहलका 24×7
                       एसटीएफ द्वारा शराब फैक्ट्री ‘‘को-आपरेटिव कंपनी लि0’’ टपरी सहारनपुर, से भारी मात्रा में निकाली जा रही अवैध शराब जिससे करोड़ों की एक्साइज ड्यूटी व टैक्स चोरी का भण्डाफोड़ कर कई अभियुक्तों को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया। उसी के क्रम में 50 हजार रुपये का पुरस्कार घोषित सफेदपोश शराब माफिया सन्तलाल जायसवाल पुत्र स्व. पल्टन जायसवाल निवासी 366 खरका तिराहा, हुसैनाबाद थाना लाइन बाजार जनपद जौनपुर हाल पता सीएल-2, गोदाम जौनपुर खरका तिराहा, हुसैनाबाद जौनपुर को बुधवार को प्रयागराज से गिरफ्तार किया गया।
बुधवार को एसटीएफ यूपी को मुकदमा अपराध संख्या 03/2021 में धारा 60(2) आबकारी अधिनियम व भादवि की धारा 120बी, 420, 467, 468, 471, 477ए व 66 आईटी एक्ट थाना एसआईटी, लखनऊ में वांछित 50 हजार का पुरस्कार घोषित सफेदपोश शराब माफिया सन्तलाल जायसवाल को गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की।
संगठित अपराध एवं अपराधियों के विरूद्ध चलाये जा रहे अभियान के क्रम में एसटीएफ उप्र द्वारा ‘‘को-आपरेटिव कंपनी लि0’’ टपरी सहारनपुर, लोकल आबकारी डिस्ट्रीब्यूटर्स, ट्रान्सपोर्टर एवं को-आपरेटिव फैक्ट्री में नियुक्त आबकारी विभाग के अधिकारियों की मिली-भगत से कम्पनी के अभिलेखों मे हेरा-फेरी कर करोड़ो रूपये की टैक्स एवं एक्साइज ड्यूटी चोरी की घटना के सम्बन्ध मे मुकदमा अपराध संख्या 03/2021 धारा 60(2) आबकारी अधिनियम व 120बी, 420, 467, 468, 471, 477ए भादवि व 66 आईटी एक्ट थाना एसआईटी, लखनऊ पर पंजीकृत हुआ था। गत 03 मार्च 2021 को मौके से 08 अभियुक्तों की गिरफ्तारी की गयी थी।
इसी अभियोग मे वांछित सरगना ट्रान्सपोर्टर एवं रू0 25,000/- के इनामी अभियुक्त सत्यवान शर्मा को हरियाणा प्रान्त से, कम्पनी के टेक्निकल हेड रू0 25,000/- के इनामी कमल डेनियल को उत्तराखण्ड से, एवं कम्पनी के एच0आर0 हेड/लीगल हेड एवं रू0 25,000/- का इनामी वीरेन्द्र शंखधार को गौतमबुद्धनगर से, एसटीएफ द्वारा गिरफ्तार किया गया था। उपरोक्त अभियोग में वांछित रू0 50,000/- का पुरस्कार घोषित सफेदपोश शराब माफिया सन्तलाल जायसवाल भी फरार चल रहा था। एसटीएफ फील्ड इकाई वाराणसी की टीम को सूचना प्राप्त हुआ कि शराब तस्कर सन्तलाल जायसवाल जनपद प्रयागराज में कहीं छुपकर रह रहा है। इसी क्रम में एसटीएफ फील्ड इकाई वाराणसी की टीम द्वारा जनपद प्रयागराज में धरातलीय अभिसूचना संकलन की कार्यवाही की जा रही थी।
इसी दौरान जानकारी मिली कि अभियुक्त सन्तलाल जायसवाल प्रयागराज रेलवे स्टेशन के पास मौजूद है और कहीं भागने की फिराक में है, यदि शीघ्रता की जाये तो पकड़ा जा सकता है। उक्त सूचना पर एसटीएफ वाराणसी टीम द्वारा तत्काल विश्वस्त सूत्र द्वारा बताये गये स्थान पर पहुॅंचकर उक्त वांछित अपराधी सन्तलाल को गिरफ्तार कर लिया गया।
गिरफ्तार अभियुक्त सन्तलाल ने पूछताछ के दौरान बताया कि वह विगत लगभग 15 वर्षों से शराब का करोबार कर रहा है। जनपद जौनपुर में उसकी थोक देशी शराब सीएल-2 की गोदाम है, जिसमें विभिन्न शराब डिस्टेलरी से (जैसे-नारन डिस्टेलरी गोण्डा, को-आपरेटिव कम्पनी ली0 टपरी सहारनपुर, रायपुर डिस्टेलरी) से देशी शराब थोक में आता है, जो विभिन्न लाइसेंसी दुकानों पर फुटकर में विक्रय किया जाता है। इसी क्रम में को-आपरेटिव कम्पनी लिमिटेड टपरी द्वारा एक ही बिल्टी पर 02 बार शराब लदी गाड़ी (एक बार वैध एवं एक बार अवैध रूप से) निकालने का काम किया जाता था, एक शराब की गाड़ी पर लगभग 15 लाख रूपये का फायदा उसे होता था, जिससे उसने काफी पैसा कमाया है, इसी दौरान इस अवैध शराब के धन्धे व टैक्स चोरी के धन्धे का भण्डाफोड़ हो गया। इस संबंध में मुकदमा पंजीकृत हो गया और इसी मुकदमें में उसके ऊपर पुरस्कार घोषित हो जाने के कारण वह लुक-छिप कर रह रहा था कि आज पुलिस द्वारा उसे गिरफ्तार कर लिया गया।

# संतलाल तो सिर्फ झांकी हैं असली मोहरा तो बाकी है, सफेद नकाबपोश करते थे संतलाल के नाम से बड़ी गुणा-गणित

विश्वस्त सूत्रों की मानें तो संतलाल जायसवाल तो सिर्फ एक मोहरा थे जो एक सफेदपोश के लिए इस्तेमाल हुए और बुधवार को सतना से गिरफ्तार किए गए हालांकि एसटीएफ संतलाल जायसवाल की गिरफ्तारी प्रयागराज से दिखा रही है। संतलाल जायसवाल की गिरफ्तारी से जौनपुर के शराब व्यवसायियों में हड़कंप मच गया है। सूत्रों की मानें तो संतलाल जायसवाल तो सिर्फ एक मोहरा हैं जिनका इस्तेमाल जौनपुर जनपद के एक बड़े शराब व्यवसायी काफी समय से करते आ रहे हैं। योगी राज के सुशासन में अब देखना होगा कि संतलाल के आका के गिरेबां तक पुलिस के हाथ कब तक पहुंचते हैं?
Previous articleजौनपुर : फरार चल रहे दो वारंटी गिरफ्तार
Next articleजौनपुर : शाहगंज में 75 फीट ऊंचे रावण के पुतले का होगा दहन
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏