वाराणसी : युवक ने रची खुद के अपहरण की साजिश, पुलिस ने चार घंटे में खोज निकाला

वाराणसी : युवक ने रची खुद के अपहरण की साजिश, पुलिस ने चार घंटे में खोज निकाला

वाराणसी।
मनीष वर्मा
तहलका 24×7
               सारनाथ क्षेत्र के नई बाजार में फास्टफूड दुकान चलाने वाले सथवां निवासी किशन प्रजापति को पुलिस ने महज चार घंटे में बृहस्पतिवार को खोज निकाला। एक युवती से प्रेम और परिजनों की ओर से शादी के दबाव से परेशान होकर किशन ने अपने अपहरण की साजिश रची थी।

किशन का अपहरण का आरोप लगाते हुए परिजनों और ग्रामीणों ने हृदयपुर पुलिया के पास सुबह जाम लगा दिया था। पुलिस के अनुसार किशन वाराणसी कैंट से पीडीडीयूनगर गया। वहां एक दुकान पर रात में रुका। दोपहर 12 बजे सिगरा स्थित अपने दोस्त दीपक के घर पहुंचा। दीपक की सूचना पर पुलिस ने किशन को बरामद कर लिया।

पूछताछ में किशन ने कहा कि वह एक युवती से प्यार करता है लेकिन परिजन मेरी शादी कहीं और करा रहे थे। इसलिए अपहरण की कहानी रची। सथवां गांव निवासी राजबली प्रजापति का पुत्र किशन प्रजापति (23) नई बाजार में फास्ट फूड की दुकान चलाता है। बुधवार रात सब्जी खरीदने सिगरा स्थित चंदुआ सट्टी गया था। परिजनों के अनुसार किशन के घर नहीं पहुंचने पर मोबाइल पर फोन किया गया तो मोबाइल बंद मिला।

भोर में पुलिस ने पिता राजबली को सूचना दी गई कि हृदयपुर पुलिया के पास स्कूटी मिली है। किशन का चप्पल व मोबाइल फोन स्कूटी के डिग्गी में था। सुबह ही थाने पहुंचे पिता राजबली ने अपहरण की तहरीर दी तो पुलिस गुमशुदगी का मुकदमा दर्ज करने लगी। इससे नाराज होकर परिजनों और ग्रामीणों हृदयपुर पुलिया के पास विरोध प्रदर्शन के बाद जाम लगा दिया। सूचना पर पहुंचे एसीपी संतोष कुमार मीणा ने आश्वासन देकर जाम हटवाया। एसीपी सारनाथ संतोष कुमार मीणा ने बताया कि युवक प्रेम और अवसाद में आकर घर छोड़कर भाग गया था। 
Previous articleबलिया में दिनदहाड़े पेट्रोल पंप के मैनेजर से 8.88 लाख रुपये की लूट
Next articleजौनपुर : एसडीएम के तबादले को लेकर अधिवक्ताओं ने किया प्रदर्शन
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏