वाल्मीकि की तुलना तालिबान से करने पर मुनव्वर राणा की मुश्किलें बढ़ीं

वाल्मीकि की तुलना तालिबान से करने पर मुनव्वर राणा की मुश्किलें बढ़ीं

# हिन्दू महासभा की तहरीर पर लखनऊ में दर्ज हुआ मुकदमा

लखनऊ।
विजय आनंद वर्मा
तहलका 24×7
              मशहूर शायर मुनव्वर राणा की मुश्किलें बढ़ती दिख रही हैं। तालिबान पर दिए गए विवादित बयान को लेकर मुनव्वर राणा के खिलाफ लखनऊ के हजरतगंज थाने में तहरीर दी गई है। हिन्दू महासभा के राष्ट्रीय प्रवक्ता शिशिर चतुर्वेदी ने हजरतगंज थाने में मुनव्वर राणा के खिलाफ दी तहरीर दी है।

शायर मुनव्वर राणा ने पहले तालिबानियों को अफगानी कहे जाने की नसीहत दी थी। साथ ही अफगानिस्तान से भाग रहे लोगों के सवाल पर कहा था कि “उत्तर प्रदेश से भाग जाने का जी चाहता है” इसके बाद मुनव्वर राणा ने एक और विवादित बयान दे दिया। इस बार उन्होंने तालिबानी लड़ाकों की तुलना महर्षि वाल्मीकि से कर दी है। मुनव्वर राणा ने कहा, “अगर वाल्मीकि रामायण लिख देते हैं तो देवता हो जाते हैं, उससे पहले वह डाकू होते है, इंसान का किरदार और इंसान का कैरेक्टर बदलता रहता है, हमें आज अफगानी अच्छे लगते हैं, दस साल बाद वह वाल्मीकि होंगे”

मुनव्वर राणा ने आगे कहा, “आप उन्हें भगवान कह रहे हैं, आपके मजहब (हिन्दू धर्म) में किसी को भी भगवान कह दिया जाता है” वाल्मीकि एक लेखक थे, उनका जो किरदार था, उसे अदा किया। उन्होंने रामायण लिखकर बड़ा काम किया, तालिबानी आतंकियों की तुलना महाऋषि वाल्मीकि से करने वाले बयान पर तमाम हिंदूवादी संगठनों ने राणा के खिलाफ नाराजगी व्याक्त की है। इससे पहले मुनव्वर राणा ने कहा था कि जितनी क्रूरता अफगानिस्तान में है, उससे ज्यादा क्रूरता तो हमारे यहां पर ही है।

# यूपी में हैं हिन्दू तालिबानी

इससे पहले मुनव्वर राना ने कहा था कि जितनी क्रूरता अफगानिस्तान में है, उससे ज्यादा क्रूरता तो हमारे यहां पर ही है। पहले रामराज था लेकिन अब सब बदलकर कामराज है। कहा कि जितनी एके-47 उनके पास नहीं होंगी, उतनी तो हिन्दुस्तान में माफियाओं के पास हैं। तालिबानी तो हथियार छीनकर और मांगकर लाते हैं लेकिन हमारे यहां माफिया खरीदते हैं। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में भी थोड़े बहुत तालिबानी हैं, यहां सिर्फ मुसलमान ही नहीं बल्कि हिंदू तालिबानी भी होते हैं।

# मुनव्वर राना से जुड़े तमाम विवाद

मशहूर शायर मुनव्वर राना एक बार फिर सुर्खियों में हैं. बेटे तबरेज राना पर हुई फायरिंग के मामले में उन्होंने खुद की जान को खतरा बताते हुए गंभीर सवाल उठाए थे। लेकिन अब पुलिस ने खुलासा किया है कि मुनव्वर राना के बेटे ने अपने चाचा और चचेरे भाइयों को फंसाने के लिए खुद पर गोली चलवाई थी। इस पूरे मामले के पीछे संपत्ति विवाद है हालांकि, ये कोई पहला मामला नहीं है जब शायर मुनव्वर राना का नाम किसी विवाद से जुड़ा हो। इसके पहले भी वह अपने बयानों से विवादों में रहे हैं।

# बेटे पर हुआ हमला तो पुलिस पर लगाया आरोप

बेटे पर हुआ हमला तो पुलिस ने खुलासा किया है कि मुनव्वर राना के बेटे ने अपने चाचा और चचेरे भाइयों को फंसाने के लिए खुद पर गोली चलवाई थी। इसी दौरान उनके घर पुलिस दबिश दी इस पर मुनव्वर राना ने कहा कि पुलिस ने उनके घर पर आकर गुंडागर्दी की। हालांकि, यह दबिश उनके बेटे के खोजबीन के लिए थी।
वहीं मुनव्वर राना की बेटी और कांग्रेस नेता फौजिया राना ने प्रशासन पर बदले की कार्रवाई का आरोप लगा दिया। उन्होंने कहा कि मेरे बीमार पापा को भी परेशान किया गया, प्रशासन हमारे पापा और हम लोगों से बदला ले रही है, पुलिस बिना सर्च वारंट के घर के अंदर तक पहुंच आई।

# फ्रांस में हुई हत्या पर दिया था विवादित बयान

पिछले साल कार्टून विवाद को लेकर फ्रांस में स्कूल टीचर की गला रेतकर हत्या करने की घटना को राना ने जायज ठहराया था. मुनव्वर राना ने तर्क देते हुए कहा था कि अगर मजहब मां के जैसा है, अगर कोई आपकी मां का, या मजहब का बुरा कार्टून बनाता है या गाली देता है तो वो गुस्से में ऐसा करने को मजबूर हैं।

उन्होंने कहा कि मुसलमानों को चिढ़ाने के लिए ऐसा कार्टून बनाया गया। किसी को इतना मजबूर न करो कि वो कत्ल करने पर मजबूर हो जाए। उनके इस बयान पर खूब विवाद हुआ था। इस बयान पर उनके खिलाफ लखनऊ के हजरतगंज थाने में एफआईआर दर्ज कराई गई थी हालांकि, बाद में उन्होंने इस पर सफाई भी दी थी।

# किसान आंदोलन पर लिखे शेर पर भी हुआ विवाद

इसी साल जनवरी में मुनव्वर राना ने किसान आंदोलन पर ट्विटर पर एक शेर लिखा था, जिस पर विवाद हो गया था। अपने इस शेर में मुनव्वर राना ने संसद को गिरा कर खेत बनाने की बात कही और सेठों के गोदामों को जला देने की बात कही थी। हालांकि, विवाद होने पर उन्होंने इस ट्वीट को डिलीट कर दिया।

# यूपी में डर लगने लगा है

सीएए-एनआरसी प्रोटेस्ट के दौरान मुनव्वर राना ने उत्तर प्रदेश की सरकार का जिक्र करते हुए कहा था कि उन्हें योगी के राज में यूपी में डर लगने लगा है। उन्होंने बीजेपी पर आरोप लगाया था कि बीजेपी का मकसद मुल्क को हिंदू राष्ट्र बनाना है।सीएए-एनआरसी के विरोध में बयानबाजी के चलते मुनव्वर राना और उनकी बेटियां भी सुर्खियों में रहीं थीं।

# राम मंदिर और पूर्व चीफ जस्टिस पर की थी टिप्पणी

अयोध्या विवाद में राम मंदिर के हक में सुप्रीम कोर्ट से फैसला आने के बाद मुनव्वर राना ने तत्कालीन चीफ जस्टिस रंजन गोगोई पर ही आरोप लगा दिया था। उनका कहना था कि इस मामले में कहीं न कहीं हिंदुओं का पक्ष लिया गया है।
Previous articleहैरतअंगेज ! नदी में डूबे बच्चे ने पड़ोसी गांव में लिया पुनर्जन्म
Next articleदिल्ली-वाराणसी वाया अयोध्या बुलेट ट्रेन परियोजना का सर्वे कार्य पूरा, ले-आउट पर मंथन
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏