विश्वविद्यालय के 171 कर्मियों को मिला पद और वेतन का लाभ

विश्वविद्यालय के 171 कर्मियों को मिला पद और वेतन का लाभ

# कार्य परिषद की बैठक के बाद कुलपति ने दिया आदेश

जौनपुर।
विश्व प्रकाश श्रीवास्तव
तहलका 24×7
                   वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय के कर्मचारियों के पद और वेतनमान को लेकर विगत सात- आठ वर्ष से मांग चल रही थी। जिसके लिए महामंत्री डॉ स्वतंत्र कुमार लगातार संघर्ष कर रहे थे। आखिरकार कार्य परिषद ने मामले को संज्ञान लिया और कुलपति के आदेश पर कुलसचिव ने अंतिम मुहर लगा दी है। जिसका लाभ विवि के 171 कर्मियों को मिल गया है।
पूर्वांचल विश्वविद्यालय कर्मचारी संघ के महामंत्री डॉ. स्वतंत्र कुमार राज्य कर्मचारियों के सेवा नियमावली के तहत पदनाम और वेतनमान वृद्धि को लेकर विश्वविद्यालय व प्रशासन से 22 सितंबर 2014 को आवाज उठाई थी। संशोधित पदनाम और वेतन वृद्धि को लेकर कर्मचारियों का लंबे समय से संघर्ष संघर्ष चल रहा था। 25 अक्टूबर 2021 को मद संख्या 12 द्वारा विश्वविद्यालय के लिपिक संवर्ग पुनर्गठन के लिए अंगीकृत किया गया। कुलपति प्रोफेसर निर्मला एस मौर्य ने 13 दिसंबर को लिपिक संवर्ग का पुनर्गठन नियमानुसार करने का आदेश कुलसचिव महेंद्र कुमार को दिया।
जिसके तहत उन्होंने नैतिक लिपिक को वरिष्ठ सहायक और वेतनमान 5200 से 20200 ग्रेड पे 2000 कर दिया है। कनिष्ठ सहायक को वरिष्ठ सहायक वेतनमान 5200 से 20200 ग्रेड पे 2800 कर दिया। वरिष्ठ सहायक एवं सहायक अधीक्षक को प्रधान सहायक बना दिया और उनका पुनरीक्षित वेतनमान 9300 से 34800 ग्रेड पे 4200 कर दिया। और अधीक्षक एवं अधीक्षक लेखा को प्रशासनिक अधिकारी का दर्जा देते हुए पुनरीक्षित वेतनमान 9300 से 34800 ग्रेड पे 4600 कर दिया। जिसका लाभ विश्वविद्यालय के 171 कर्मियों को मिला है।इसके लिए लंबे समय से संघर्ष कर रहे कर्मचारी संघ के महामंत्री डॉ. स्वतंत्र कुमार ने विश्वविद्यालय कुलपति व प्रशासन के प्रति आभार प्रकट किया है।

Earn Money Online

Previous articleजौनपुर : यूबीआई शाखा के विलय से आक्रोशित धाताधारकों ने किया प्रदर्शन
Next articleजौनपुर : बेसिक शिक्षकों ने खण्ड शिक्षाधिकारी को सौंपा ज्ञापन
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏