वेदानन्द ओझा..

वेदानन्द ओझा..

प्रज्ञाहीन धर्म तथा प्रीतिरहित नीति मानव के लिए अभिशाप है..
Spirituality without intuitive intelligence and ethics without compassion are curse to humanity..

वेदानन्द ओझा
365 विधानसभा शाहगंज
ग्राम-त्रिकौलिया खुटहन

Previous articleजौनपुर : इण्डियन मेडिकल एसोसिएशन ने लगाया निशुल्क स्वास्थ्य परीक्षण शिविर
Next articleसराहनीय ! आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के योगदान से बच गई अति कुपोषित तीन बच्चों की जान
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏