वेदानन्द ओझा..

वेदानन्द ओझा..

If you want to see something you can only see it through your eyes, not my eyes. A person can indicate but he cannot show you.

अगर आप कुछ देखना चाहते हैं तो अपनी आँखों से ही देख सकते हैं, मेरी आँखों से नहीं। दूसरा मनुष्य इशारा कर सकता है लेकिन दिखा नहीं सकता, देखना तो आपको स्वयं ही है।

वेदानन्द ओझा (पूर्व ज्वाइन्ट कमिश्नर)
365 विधानसभा शाहगंज
ग्राम-त्रिकौलिया खुटहन

Earn Money Online

Earn Money Online

Previous article…फैशन फर्स्ट
Next articleवेदानन्द ओझा…
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏