शराब कारोबारी के यहां तीसरे दिन भी छापेमारी की कार्रवाई जारी, 50 घंटे से जमें हैं अधिकारी

शराब कारोबारी के यहां तीसरे दिन भी छापेमारी की कार्रवाई जारी, 50 घंटे से जमें हैं अधिकारी

# पूछताछ के लिए वाराणसी से सीए को लाया गया शाहगंज

# शाम को ओमप्रकाश जायसवाल के शाहगंज पहुंचने के बाद जांच-पड़ताल की गतिविधियां हुई तेज

शाहगंज।
रवि शंकर वर्मा
तहलका 24×7
               आयकर विभाग की टीम जौनपुर के शाहगंज में भाजपा नेता व शराब कारोबारी ओम प्रकाश जायसवाल के घर 50 घंटे से डेरा जमाए हुए है। बृहस्पतिवार की सुबह से शुरू हुई आयकर विभाग की कार्रवाई आज तीसरे दिन भी जारी रही। देर रात डेढ़ बजे एक गाड़ी से ओम प्रकाश जायसवाल की भयोहू व नगर पालिका परिषद शाहगंज की अध्यक्ष गीता जायसवाल को जेसीज चौराहे स्थित मकान से फार्म हाउस पर ले गई। 10 मिनट बाद दूसरी गाड़ी से उनके भाई प्रदीप जायसवाल को फार्म हाउस पर ले जाया गया। जहां सुबह से ही जांच पड़ताल चल रही। इधर, वाराणसी से ओम प्रकाश जायसवाल के मोहित अग्रवाल को देर रात शाहगंज लाया गया है। आयकर विभाग की टीम उनसे पूछताछ में जुटी है।

# देर रात ब्रीफकेस लेकर निकले अफसर, टीम फार्म हाउस रवाना

शुक्रवार शाम पांच बजे भाजपा नेता ओमप्रकाश जायसवाल घर पहुंचे। इसके बाद आयकर विभाग की टीम के जांच-पड़ताल की गतिविधियों में तेजी आ गयी। आयकर विभाग की टीम ओमप्रकाश जायसवाल की पत्नी, बच्चों, भाई प्रदीप जायसवाल एंव उनकी पुत्री को लेकर धड़ाधड़ फार्म हाउस से जेसीज चौक और जेसीज चौक से फार्म हाउस का कई चक्कर लगाते देखा गया। शुक्रवार रात 10 बजे आयकर विभाग की टीम ओम प्रकाश जायसवाल के जेसीज चौक स्थित आवास से एक ब्रीफकेस लेकर फॉर्म हाउस की ओर निकली।वहीं थोड़ी देर बाद ओमप्रकाश की पत्नी माधुरी जायसवाल और प्रदीप जायसवाल की दोनों बेटियों को आवास से फार्म हाउस के लिए टीम लेकर गई।ओम प्रकाश जायसवाल के सीए से भी आयकर विभाग की टीम ने कई चक्र में पूछताछ जारी रखा। पूरे दिन नगरवासी एक दूसरे से छापेमारी का जायजा लेते नजर आये।

# सुबह सात बजे जांच अधिकारियों की शिफ्ट बदली

करीब साढ़े चार घंटे की पूछताछ के बाद रात 12.30 बजे नगर पालिका अध्यक्ष गीता जायसवाल को टीम के लोग वापस उनके फॉर्म हाउस लेकर गए। फिर, आधे घंटे बाद रात एक बजे प्रदीप जायसवाल को भी टीम फार्म हाउस लेकर रवाना हुई। सुबह सात बजे जांच अधिकारियों की शिफ्ट बदली गई और फिर पूछताछ और जांच-पड़ताल हुई।
फ्लोर मिल, फार्म हाउस और उनके संबंधी सुजीत जायसवाल के पंचवटी कॉलोनी स्थित आवास पर अधिकारियों की गाड़ियां खड़ी नजर आई। जिस जगह गाड़ियां खड़ी थीं, वहां किसी को अंदर या बाहर आने-जाने की इजाजत नहीं थी। ऐसे में अनुमान लगाया जा रहा था कि इन स्थानों पर भी अधिकारी जांच पड़ताल करने में जुटे थे।
Previous articleआजमगढ़ : जनसेवा केंद्र लूटने में विफल बदमाशों ने तमंचे से आतंकित कर राहगीर की बाइक लूटी
Next articleजौनपुर : बस अड्डे के पुननिर्माण के लिए विधायक ललई यादव ने सीएम योगी को लिखा
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏