सम्पूर्ण समाज पार्टी और समाजवादी के कद्दावर नेताओं की मुलाकात से सियासी सुगबुगाहट शुरू

सम्पूर्ण समाज पार्टी और समाजवादी के कद्दावर नेताओं की मुलाकात से सियासी सुगबुगाहट शुरू

लखनऊ।
विजय आनंद वर्मा
तहलका 24×7
               प्रदेश में 2022 के विधानसभा चुनाव की रणभेरी बजनी अभी बाकी है मगर सियासतदार अपनी रणनीति बनाने में पूरी ताकत से जुट गये हैं। सभी क्षेत्रीय पार्टियां अपनी राजनीतिक भविष्य की तलाश में बड़ी पार्टियों के चक्कर लगाना शुरू कर दिया है। इसी मेल मिलाप में क्षेत्रीय पार्टी सम्पूर्ण समाज पार्टी के राष्ट्रीय प्रभारी राजन मिश्रा एवं राष्ट्रीय महासचिव अनुराग पाण्डेय समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल से मुलाकात की।

सूत्रों की मानें तो आने वाले विधानसभा चुनाव में दोनों पार्टियां एक साथ मिलकर चुनाव लड़ सकती है, भाजपा को उत्तर प्रदेश से हटाने के लिए सभी विपक्षी राजनैतिक दल अभी से लामबंद होने शुरू हो गए है और इसी कड़ी में सम्पूर्ण समाज पार्टी के इन दोनों बड़े नेताओं की मुलाकात ये जाहिर करती है कि आने वाले चुनाव में दोनो पार्टियां एक साथ मैदान में उतर सकती है। सबसे दिलचस्प बात यह है कि जहां ब्राह्मण भाजपा से एक तरफ नाराज चल रहे हैं वहीं सम्पूर्ण समाज पार्टी के सपा के साथ आने से ब्राह्मण वोटों पर अच्छा खासा असर पड़ सकता है।
जानकारी के मुताबिक सम्पूर्ण समाज पार्टी में ज्यादातर सदस्यता ब्राह्मणों की है और पार्टी के अधिकतर पदाधिकारी भी ब्राह्मण ही है। आगे क्या होगा फिलहाल अभी कुछ कहा नहीं जा सकता पर एक बात तो निश्चित है कि सम्पूर्ण समाज पार्टी यदि सपा का समर्थन करती है तो ब्राह्मण वोटों का बंटवारा निश्चित है क्योकि सम्पूर्ण समाज पार्टी पूर्वान्चल के ब्राह्मण वोटो पर अच्छा खासा असर रखती है।ऐसे में अब देखना यह है कि क्या नाराज़ चल रहे ब्राह्मणों को भाजपा अपने खेमे में खींच पाती है या ब्राह्मण सपा के साथ मिलकर भाजपा को नुकसान पहुंचाते है? फिलहाल उत्तर प्रदेश की राजनीति में अभी से चुनावी रंग चढ़ने लगा है।
Previous articleजौनपुर : समाधान दिवस पर अधिकारियों ने सुनी जनता की फरियाद
Next articleजौनपुर : कोचिंग से लौट रहे छात्र की सड़क हादसे में दर्दनाक मौत
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏