साइबर क्राइम की शिकार छात्रा ने किया फांसी लगाकर आत्महत्या

साइबर क्राइम की शिकार छात्रा ने किया फांसी लगाकर आत्महत्या

# सुसाइड नोट में लिखा- “थैंक्यू सो मच मां”, भाई तुम पापा के पैसे बर्बाद मत करना

झांसी।
तहलका 24×7
               उत्तर प्रदेश के झांसी जिले में एक छात्रा ने साइबर क्राइम का शिकार होने के बाद फांसी लगाकर जान दे दी। छात्रा की मौत से परिवार में कोहराम मच गया। पुलिस ने छात्रा के पास से सुसाइड नोट बरामद किया है। फिलहाल पुलिस मामले की जांच में जुटी है। 

घटना झांसी जिले के नवाबाद थाना इलाके के गुमनावारा की है। गुमनावारा के रहने वाले जगमोहन की बेटी यशस्वी (21) ने बीती रात घर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। उसके पास से सुसाइड नोट भी बरामद किया गया है।

यशस्वी ने दो माह पहले एक समाचार पत्र में विज्ञापन पढ़ा था, जिसमें एक नामचीन आयुर्वेदिक कंपनी के नाम से मिलती-जुलती कंपनी का विज्ञापन प्रकाशित हुआ था। विज्ञापन में घर बैठे प्रतिमाह पच्चीस हजार रुपये कमाने का ऑफर देते हुए आवेदन मांगे गए थे। आवेदन करने के बाद कंपनी की ओर से उससे किस्तों में 48,500 रुपये जमा कराए। बाद में कंपनी के प्रतिनिधियों के फोन बंद जाने लगे। इससे वो मानसिक रूप से परेशान रहने लगी थी। इसी परेशानी के चलते उसने बीती रात घर में फांसी लगा आत्महत्या कर ली। 

उसके पास से एक सुसाइड नोट भी मिला है, सुसाइड नोट में लिखा है कि ‘पापा ये किसी को न दिखाना, हम आपकी परेशानियों और घर की कलह की जड़ हैं, जो अब नहीं रहेगी। अब आप सिगरेट छोड़ देना। भैया, मां-पापा का ख्याल रखना, वो अच्छे हैं। हम उनका सपना पूरा नहीं कर पाए, तुम ऑफिसर बनना। पापा के पैसे बर्बाद मत करना। थैंक्यू सो मच मां, आई एम सॉरी, रियली सॉरी, आई लव यू सो मच माई फैमिली, मैं अपनी मर्जी से जान दे रही हूं। बेटी के आत्महत्या किए जाने के बाद से घर में कोहराम मचा हुआ है। मां-पिता का रो-रोकर बुरा हाल है। अन्य परिजन भी सदमे में हैं। 
Previous articleतालिबान के साथ हैं पाकिस्तान के 21 आतंकी संगठन
Next articleआगरा एक्सप्रेस-वे पर वीभत्स हादसा, आईडीए अध्यक्ष की डॉ पत्नी की मौत
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏