सुल्तानपुर : अमहट मंडी में अतिक्रमण और जाम से जूझते किसान व व्यापारी

सुल्तानपुर : अमहट मंडी में अतिक्रमण और जाम से जूझते किसान व व्यापारी

सुल्तानपुर।
ज़ेया अनवर
तहलका 24×7
                अमहट की नवीन मंडी में सैकड़ों किसान रोजाना उपज बेचने आते हैं। सुविधाएं तो दूर इन किसानों को अतिक्रमण के चलते अपनी उपज रखने के लिए जगह की तलाश के लिए भटकना पड़ता है। स्थाई रूप से जिन्हें दुकानें आवंटित है उनकी कब्जेदारी का दायरा सड़क तक बढ़ गया है।
बचे स्थान पर लोडिग व अनलोडिंग का काम जारी रहने से मंडी में हमेशा जाम के हालात बने रहते हैं। ऐसे में, यहां आए किसान और कारोबारी एक-दूसरे से उलझते रहते हैं। कई बार तो मारपीट की नौबत तक आ जाती है। शहर से तीन किमी दूर जिले की मुख्य नवीन मंडी अमहट बदहाली का शिकार है। इस मंडी में सब्जी का कारोबार बड़े पैमाने पर होता है। आस-पास के किसानों के अतिरिक्त दूर दराज के सब्जी उत्पादक अपने उत्पाद बेचने के लिए इस केंद्र पर हर दिन आते हैं। सुबह से ही मंडी परिसर में चहल-पहल शुरू हो जाती है। वाहनों की आवा-जाही और उनके बीच सड़क पर खड़ा हाने से जाम की स्थिति बनती है। निर्धारित स्थान से कई मीटर आगे स्थाई दुकानदारों की कब्जेदारी से आम किसान सड़क पर दुकान लगाने को विवश है। ऐसे हालात में यहां पैदल चलना भी दुश्वार हो जाता है।

# बेसहारा मवेशी भी बने मुसीबत

मंडी परिसर में बेसहारा मवेशियों का भी जमावड़ा है। भोजन की तलाश में यह कब सब्जी की ढेर पर हमलावर हो जाएंगे इसकी आशंका हमेशा बनी रहती है। वहीं, खराब फलों और सब्जियों को खुले में फेंके जाने से इन मवेशियों का झुंड परिसर में दिन-रात जमा रहता है।
इस संदर्भ में तहसीलदार सदर विदुषी सिंह ने बताया कि मंडी परिसर का निरीक्षण कर यहां के स्थाई आवंटियों को अतिक्रमण हटाने की नोटिस दी जाएगी। लोडिंग व अनलोडिग के लिए निश्चित स्थान परिसर में तय किया जाएगा। सड़क पर इस कार्य के लिए तत्काल प्रभाव से रोक लगाई जाएगी।

Earn Money Online

Previous articleअश्लील वीडियो बना नेता से ऐंठना चाहते थे 10 लाख, नेपाली महिला समेत दो गिरफ्तार
Next articleआजमगढ़ : ग्रामसभा की भूमि पर अवैध कब्जा, ग्रामीणों ने किया विरोध-प्रदर्शन
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏