सुल्तानपुर : पर्यावरण व जैव संरक्षण के लिए आवश्यक है हरिशंकरी वृक्ष- ज्ञानेन्द्र विक्रम सिंह ‘रवि’

सुल्तानपुर : पर्यावरण व जैव संरक्षण के लिए आवश्यक है हरिशंकरी वृक्ष- ज्ञानेन्द्र विक्रम सिंह ‘रवि’

# झारखंड महादेव परिसर में लगाया गया हरिशंकरी का पौधा

कादीपुर।
मुन्नू बरनवाल
तहलका 24×7
             पर्यावरण संरक्षण व जैव विविधता संरक्षण की दृष्टि से पीपल, बरगद व पाकड़ सर्वश्रेष्ठ प्रजातियां मानी गई हैं इसलिए हरिशंकरी का रोपण हर प्रकार से महत्वपूर्ण, आवश्यक व पुण्यदायक कार्य है यह बातें राणा प्रताप स्नातकोत्तर महाविद्यालय के असिस्टेंट प्रोफेसर ज्ञानेन्द्र विक्रम सिंह ‘रवि’ ने कहीं। वे झारखंड महादेव परिसर में श्री संस्कार वाटिका न्यास द्वारा आयोजित पौधारोपण समारोह में बतौर मुख्य अतिथि सम्बोधित कर रहे थे।

ज्ञानेन्द्र विक्रम सिंह ‘रवि’ ने बताया कि तीन पौराणिक वृक्ष पीपल, बरगद और पाकड़ के समूह को हरिशंकरी कहते हैं। हरिशंकरी कभी पत्तों से रहित नहीं होती। इसकी छाया में दिव्य औषधीय गुण व पवित्र आध्यात्मिक प्रवाह बना रहता है जो इसके नीचे बैठने वालों को पवित्रता, पुष्टता और ऊर्जा प्रदान करता है। युवा साहित्यकार व समाजसेवी ज्ञानेन्द्र विक्रम सिंह ‘रवि’ ने रविवार को झारखंड महादेव परिसर में हरिशंकरी का पौधा लगाया। इस अवसर पर श्री संस्कार वाटिका न्यास के संस्थापक अभिनव शर्मा, आकिब, शुभम और अभय उपस्थित रहे।
Previous articleजौनपुर : पक्खनपुर की नव निर्मित सड़क चढ़ी भ्रष्टाचार की भेंट
Next articleजौनपुर : सैकड़ों युवाओं ने थामा कांग्रेस का हाथ
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏