सुल्तानपुर : बारिश में भीग गया क्रय केंद्रों पर खरीद कर रखा गया सैकड़ों क्विंटल धान

सुल्तानपुर : बारिश में भीग गया क्रय केंद्रों पर खरीद कर रखा गया सैकड़ों क्विंटल धान

सुल्तानपुर।
ज़ेया अनवर
तहलका 24×7
                 जिले में मंगलवार की रातभर हुई बूंदाबांदी से धान क्रय केंद्रों पर किसानों से खरीदकर रखा सैकड़ों क्विंटल धान भीग गया। मौसम बिगड़ने के बाद कुछ क्रय केंद्रों पर खुले में रखे धान पर पन्नी डाली गई है। वहीं, रात व दिन में हुई बूंदाबांदी से जिले में सर्दी बढ़ गई है। शहर में कुछ स्थानों पर अलाव जल रहे हैं, लेकिन ग्रामीण क्षेत्रों के दावे सिर्फ हवाई हैं।जिले में मंगलवार से शुरू बूंदाबांदी बुधवार को रुक-रुककर जारी रही। मंगलवार को रात भर हुई बूंदाबांदी में जिले के कुड़वार क्रय केंद्र पर किसानों से खरीदकर बाहर रखा सैकड़ों क्विंटल धान भीगता रहा।

डिप्टी आरएमओ के निर्देश पर केंद्र प्रभारी की ओर से धान को बचाने के लिए पन्नी डाली गई लेकिन इसके बाद भी काफी धान बूंदाबांदी में भीग गया। साथ ही अखंडनगर, पीपीकमैचा, कूरेभार के डीह ढग्गूपुर समेत कई क्रय केंद्रों पर किसानों से खरीदकर रखा गया। सैकड़ों क्विंटल धान बूंदाबांदी में भीगता रहा। इसके पीछे क्रय केंद्रों पर खरीद कर रखे धान की उठान नहीं हो पाना बताया जा रहा है। एआर कोऑपरेटिव ने आठ क्रय केंद्रों पर बाहर खरीदकर रखे गए धान की उठान के संबंध में पीसीएफ प्रबंधक को पत्र लिखा है। एआर कोऑपरेटिव एपी सिंह ने उठान के लिए ट्रकों को उपलब्ध कराने के लिए पत्र लिखा है। क्रय केंद्रों पर धान भीगने से सरकार को आर्थिक नुकसान की आशंका बनी है।

Earn Money Online

Previous articleसुल्तानपुर : ग्रामीण क्षेत्रों में कागजों पर दहक रहे अलाव
Next articleसुल्तानपुर : अधिग्रहीत भूमि का निर्माण ढहाने गई टीम का व्यापारियों ने किया विरोध
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏