सुल्तानपुर : भाई अगर दुश्मन न बने उसका कोई भी नहीं कर सकता बाल-बांका- पं मदन मोहन मिश्र

सुल्तानपुर : भाई अगर दुश्मन न बने उसका कोई भी नहीं कर सकता बाल-बांका- पं मदन मोहन मिश्र

# स्वामी विवेकानंद कालेज में चल रही रामकथा के दूसरे दिन जुटे श्रोतागण

कादीपुर।
मुन्नू बरनवाल
तहलका 24×7
                     समय, शक्ति और संपत्ति का सदुपयोग ही योग है तथा इसका दुरुपयोग ही भोग है। वर्तमान में ढोंगी साधुओं ने धर्म को सर्वाधिक हानि पहुँचाई है उक्त बातें वाराणसी से पधारे मानस कोविद् डाक्टर मदन मोहन मिश्र ने स्वामी विवेकानंद इंटरमीडिएट कालेज हरीपुर में आयोजित तीन दिवसीय श्रीराम कथा एवं ज्ञान गंगा महोत्सव के दूसरे दिन व्यक्त किए।
मानस कोविद् डा. मदन मोहन मिश्रा का माल्यार्पण करते हुए सामाजिक कार्यकर्ता मुख्तार अहमद
डा. मिश्रा ने कहा की पहले देश ऋषि प्रधान था, बाद में कृषि प्रधान हुआ किन्तु आज केवल कुर्सी प्रधान बन कर रह गया है। श्री मिश्र ने कहा कि आज राजनैतिक दलों का उद्देश्य सिर्फ सत्ता में बने रहने का है। उन्होंने कहा कि भगवान राम ने बालि का वध तब तक नहीं किया जब तक सुग्रीव ने अपने भाई बालि को अपना दुश्मन नहीं बताया “बंधु न होई मोर यह काला” भाई अगर भाई का विरोध ना करें तो दैत्य और दानव क्या भगवान भी ऐसे मानव का बाल बांका नहीं कर सकता।
मानस कोविद् डा. मदन मोहन मिश्रा का माल्यार्पण करते हुए डॉ. रणजीत सिंह
प्रतापगढ़ से पधारे पंडित आशुतोष द्विवेदी ने कहा यदि नारी, नारी का शोषण ना करें तो पुरुष नारी का शोषण कभी नहीं कर सकता है। कथा के श्रवण से जीवन की सारी व्यथा समाप्त हो जाती है, जो अपने मान का हनन करे वही हनुमान है। उन्होंने कहा कि हनुमान जी ने अपने किए गए सभी कार्यो का श्रेय राम को दिया, इसीलिए आज भी वह समाज में पूज्य है। पं. अनिल पांडे ने कहा कि अहंकार रहित भाव से सेवा करना ही हनुमान की सच्ची भक्ति है। श्री पांडे ने भगवान के जन्म की कथा सुनाकर लोगों को भाव विभोर कर दिया। जौनपुर से पधारे पं. उमानन्द जी महाराज ने कहा कि समाज में मानस के सामान्य पात्रों से भी शिक्षा ग्रहण कर जीवन को सार्थक बनाया जा सकता है।
मानस कोविद् डा. मदन मोहन मिश्रा का माल्यार्पण करते हुए रामलाल गुप्ता
मंच का संचालन सामाजिक कार्यकर्ता विजय उपाध्याय ने किया। इस अवसर पर डा. रणजीत सिंह, डा. डी. पी. मिश्रा, प्रमुख प्रतिनिधि सर्वेश मिश्रा, डा. अरविंद सिंह, रामलाल गुप्ता, जितेंद्र पाल, अशोक तिवारी, प्रशांत पांडे, विवेकानंद उपाध्याय, संजय सिंह, विजय जायसवाल, शिवकुमार, अन्तिम मिश्रा, सुनील सिंह, कमलेश मिश्रा, रितेश उपाध्याय, दीपेश सिंह, नीरज पांडे, विनोद तिवारी, महेंद्र मिश्रा, राकेश कुमार, जगदम्बा उपाध्याय, विक्की वर्मा, विनोद कुमार तिवारी सहित क्षेत्र के सैकड़ों लोग उपस्थित रहे। व्यासपीठ व अतिथियों का आयोजक अमरीश मिश्रा ने आभार व्यक्त किया। रामकथा के पूर्व राम दरबार का पूजन रूप नारायण पांडे ने कराया। रामकथा का समापन मंगलवार को होगा।

Earn Money Online

Previous articleजौनपुर : प्लेटफार्म पर बाइक चला रहे दो युवक गिरफ्तार
Next articleजौनपुर : बाइक और आटो की टक्कर में बाइक सवार तीन घायल
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏