सुल्तानपुर : 82 लाख खर्च के बाद भी पीएम की रैली में प्यासे रह गए लोग

सुल्तानपुर : 82 लाख खर्च के बाद भी पीएम की रैली में प्यासे रह गए लोग

सुल्तानपुर।
ज़ेया अनवर
तहलका 24×7
                  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली में गई भीड़ व अन्य के लिए खरीदी गई तीन लाख पानी की छोटी बोतल व नाश्ते का पता ही नहीं चला। बाहर खड़े टैंकर से प्यास बुझाने निकली भीड़ दोबारा जनसभा स्थल में प्रवेश नहीं पा सकी।
यूपीडा की ओर से प्रशासन के जरिए लाई जाने वाली भीड़ व अन्य के लिए करीब ढाई सौ मिलीलीटर की तीन लाख पानी की बोतल खरीदी गई थी। पानी की छोटी बोतल पर करीब 18 लाख रुपया खर्च किया गया था। भीड़ व अन्य के लिए करीब 60 लाख रुपये का एक लाख पैकेट बेहतर नाश्ता भी खरीदा गया था।
वीआईपी, पार्टी नेताओं समेत अन्य के लिए दो हजार पैकेट भोजन जरिए टेंडर करीब सवा चार लाख रुपये में लिया गया था। इतनी व्यवस्था के बाद भी पीएम की जनसभा में पहुंची भीड़ पानी व नाश्ते के लिए तरस गई। सुबह से गांवों से बसों के जरिए लाई भीड़ प्यासी ही रही।
जनसभा स्थल पर किसी को पानी की बोतल प्यास बुझाने के लिए नहीं मिल सकी। जनसभा स्थल में पहुंचे लोगों के मुताबिक बस व कार्यक्रम स्थल पर भी पानी व अधिकांश भीड़ का नाश्ता तक नसीब नहीं हो सका। प्यास से बेहाल कुछ लोग जनसभा स्थल के बाहर खड़े किए गए टैंकरों से प्यास बुझाने निकले तो वे दोबारा स्थल पर सुरक्षा कारणों से प्रवेश नहीं पा सके। इसकी वजह से कुछ भीड़ पंडाल के बाहर ही रह गई। शाम को जनसभा से निकलने के बाद ही भीड़ समेत अन्य को राहत मिल सकी। लंच, पानी व नाश्ता पर करीब 82 लाख रुपये टेंडर के जरिए खर्च किया गया है।

# हो सकता है कि कहीं कुछ अव्यवस्था रही हो

डीएसओ अभय सिंह ने दावा किया कि पार्किंग स्थल पर पानी व नाश्ता भीड़ को उपलब्ध कराया गया था। एसपीजी के मना करने की वजह से सभा स्थल पर पानी की छोटी बोतल नहीं दी गई। दावा किया कि प्रत्येक ब्लॉक में पानी के बड़े जार रखवाए गए थे। हो सकता है कि कहीं कुछ अव्यवस्था रही हो..

Earn Money Online

Previous articleसुल्तानपुर : युवक की धारदार हथियार से गला काटकर हत्या
Next articleजौनपुर : आठ गोवंशों के साथ दो पशु तस्करों को नेवढ़िया पुलिस ने किया गिरफ्तार
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏