स्वतंत्रता सबकों प्यारी होती है- फादर सामी

स्वतंत्रता सबकों प्यारी होती है- फादर सामी

शाहगंज।
राजकुमार अश्क
तहलका 24×7
              स्वतंत्रता क्या होती है इसका अगर मर्म जानना हो तो उस व्यक्ति से पुछिए जो गुलामी की ज़िन्दगी से निजात मिलने पर खुली हवा में सांस ले रहा हो, उस पिजरे के पक्षी से पूछिए जो अचानक खूले गगन में उन्मुक्त उड़ रहा हो उक्त बातें क्षेत्र के सबसे प्रतिष्ठित विद्यालय सेंट थॉमस इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य फादर सामी ने अपने एक संक्षिप्त मुलाकात में लोगों से कही।

उन्होंने स्वतंत्रता शब्द की उत्पत्ति पर प्रकाश डालते हुए बताया कि वास्तव में यह शब्द लैटिन भाषा के लिबर शब्द से बना है जिसका अर्थ होता है मुक्त, स्वतंत्र बिना बंधन के।लेकिन स्वतंत्रता का सही अर्थ उस वातावरण का स्थापना करना जिसमें मनुष्य अपना पूर्ण विकास कर सके। स्वतंत्रता मिलने पर औरों की संस्कृति का सम्मान करना, इंसानियत धर्म निभाना, लोगों को वैसे ही आदर करना और स्वीकार करना जैसे वो हैं। नम्रता, विनम्रता एंव प्रेम स्वतंत्रता की नींव हैं, अनुशासन और चरित्र निर्माण ये दोनों स्वतंत्रता के दो पहलू हैं। प्रत्येक नागरिक का यह कर्तव्य है कि वह स्वतंत्रता को अपने जीवन में आत्मसात करें।
Previous articleजौनपुर : बूथ की मजबूती से ही विधानसभा में जीत सुनिश्चित होगी- सिद्धार्थ सिंह
Next articleजौनपुर : जमीनी विवाद को लेकर पट्टीदारों ने मां संग दो बेटियों को पीटकर किया घायल
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏