हिंसा में मारे गए किसान नक्षत्तर, लवप्रीत व पत्रकार रमन के परिजनों से मिले राहुल-प्रियंका

हिंसा में मारे गए किसान नक्षत्तर, लवप्रीत व पत्रकार रमन के परिजनों से मिले राहुल-प्रियंका

# परिजनों ने कहा वे सिर्फ मुआवजे से संतुष्ट नहीं, न्याय चाहिए, आरोपियों की गिरफ्तारी हो

# राहुल-प्रियंका बोले- हम भी आपके बच्चे की तरह, न्याय दिलाकर रहेंगे

लखनऊ/लखीमपुर-खीरी।
विजय आनंद वर्मा
तहलका 24×7
                लखीमपुर के लहबड़ी गांव में तिकुनिया कांड की हिंसा में मारे गए किसान नछत्तर सिंह के परिजनों से बुधवार की रात मिलने पहुंचे कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और प्रियंका गांधी यहां करीब 38 मिनट तक रुके। नछत्तर सिंह की बुजुर्ग पत्नी सतविंदर कौर से मिलकर राहुल और प्रियंका भावुक हो गए। उन्होंने सतविंदर कौर को भरोसा दिया और कहा कि हम भी आपके बच्चे की तरह हैं, न्याय दिलाकर रहेंगे।
घर से बाहर निकलते हुए प्रियंका गांधी ने कहा, हम तीन पीड़ित परिवारों से मिले। सभी ने साफ-साफ कहा है कि वे सिर्फ मुआवजे से संतुष्ट नहीं हैं। इंसाफ तब मिलेगा, जब आरोपियों की गिरफ्तारी होगी। प्रियंका ने कहा जब पुलिस मुझे बिना वारंट के गिरफ्तार कर सकती है तो जिन पर मुकदमा दर्ज है उनकी गिरफ्तारी क्यों नहीं हो रही ?
राहुल और प्रियंका गांधी का काफिला रात को 11:55 बजे घर पहुंचा। घर के अंदर राहुल गांधी और प्रियंका गांधी के अलावा छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी, कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला एवं यूपी कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू आदि मौजूद रहे।

# पंजाब एवं छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भी साथ रहे…

काफी देर तक राहुल और प्रियंका परिजनों से बातें करते रहे। उनसे घटना के बारे में पूछा। बेटे को सांत्वना दी। इस दौरान सुरक्षाकर्मियों ने घर के मुख्य गेट को बंद कर दिया था। पारिवारिक सूत्रों के मुताबिक राहुल और प्रियंका से मिलकर नछत्तर सिंह की पत्नी सतविंदर कौर भावुक हो गईं। प्रियंका ने उनका हाथ थामकर और गले लगाकर कहा कि हम भी आपके बच्चे हैं।
इसके बाद परिवार वालों ने राहुल, प्रियंका और कांग्रेस के प्रतिनिधिमंडल से चाय पूछी। पहले तो राहुल ने सिर्फ पानी पीने की बात कही। परिवार ने राहुल के लिए पानी उपलब्ध कराया। बाद में चाय भी बनी और उसे कांग्रेसी प्रतिनिधिमंडल ने पिया। राहुल गांधी एवं प्रियंका गांधी तिकुनिया बवाल में मारे गए लवप्रीत के घर चौखड़ा फार्म एवं निघासन में मृतक पत्रकार रमन कश्यप के यहां भी पहुंचे और परिजनों से मुलाकात कर हर संभव मदद व न्याय दिलाने का भरोसा दिया।
Previous articleसुप्रीम कोर्ट ने पूछा- लखीमपुर हिंसा में कितनी लोगों की हुई गिरफ्तारी
Next articleयात्री बस और ट्रक के बीच भीषण टक्कर में 15 की मौत, 30 से ज्यादा घायल
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏