लखनऊ ट्रामा सेंटर से भागे ईरानी गैंग के दोनों बदमाश फर्रुखाबाद में दबोचे गए

लखनऊ ट्रामा सेंटर से भागे ईरानी गैंग के दोनों बदमाश फर्रुखाबाद में दबोचे गए

# रायबरेली पुलिस रिमांड पर लेकर करेगी पूछताछ, दरोगा सहित 7 पुलिसकर्मी हुए हैं सस्पेंड

# जौनपुर के शाहगंज में पत्रकार बनकर धौंस जमाता था ईरानी गैंग का सरगना

लखनऊ/फर्रुखाबाद/रायबरेली।
विजय आनंद वर्मा
तहलका 24×7
                 केजीएमयू ट्रामा सेंटर लखनऊ से बुधवार की सुबह भागे ईरानी गैंग के दोनों घायल बदमाश फर्रुखाबाद में पकड़ लिए गए हैं। रायबरेली की पुलिस और एसओजी वहां पहुंच रही है। दोनों बदमाशों को रिमांड में लेकर पूछताछ की जाएगी। बताते चलें कि रायबरेली के डलमऊ में नौ जुलाई को पुलिस मुठभेड़ में पकड़े गए ईरानी गैंग के इरफान और इंजमाम को इलाज के लिए मंगलवार की शाम को लखनऊ के ट्रामा सेंटर ले जाया गया था, जहां से बुधवार की सुबह करीब छह बजे दोनों भाग गए थे। उनकी आखिरी लोकेशन डालीगंज स्टेशन के पास मिली थी, तभी आशंका जताई गई थी कि ये दोनों सीतापुर, लखीमपुर, गोरखपुर या फिर फर्रुखाबाद भागे होंगे।
                                                  मुठभेड़ में घायल व पुलिस की गिरफ्त में पकड़े गए बदमाश
रायबरेली और लखनऊ की पुलिस ने बदमाशों की डिटेल इन जिलों की पुलिस से साझा की थी। रायबरेली पुलिस की पांच टीमें लखनऊ सहित कई जनपदों की खाक छान रही थी। शुक्रवार की सुबह जब फर्रुखाबाद पुलिस से सूचना मिली की दोनों पकड़ लिए गए हैं, तब पुलिस अधिकारियों ने राहत की सांस ली। रायबरेली के पुलिस पुलिस अधीक्षक आलोक प्रियदर्शी ने बताया कि फर्रुखाबाद से दोनों बदमाशों के पकड़े जाने की सूचना मिली है। हमारी टीम दोनों बदमाशों को लेने के लिए वहां पहुंच रही है। बदमाश इरफान और इंजमाम के दाहिने पैर में घुटने के पास गोली लगी थी, जिससे उनकी जांघ की हड्डी टूट गई थी। जिला अस्पताल से उन्हे मंगलवार की शाम को रेफर किया गया था। ट्रामा में प्लास्टर चढ़ने के बाद दोनों पुलिस को चकमा देकर भाग निकले थे। इस मामले में दारोगा समेत सात पुलिस कर्मियों को सस्पेंड कर दिया गया था। उनके खिलाफ चौक थाने में एफआईआर भी दर्ज कराई गई थी।
                                         पहले पकड़ा गया ईरानी गैंग का सरगना और साथी

# काफी समय से फरार चल रहे थे बदमाश

दरअसल, शुक्रवार की रात ऊंचाहार कोतवाली क्षेत्र में पुलिस और बदमाशों के बीच मुठभेड़ हुई थी। मुठभेड़ के दौरान 2 बदमाश पकड़ लिए गए थे, जबकि अन्य लुटेरे फरार हो गए थे। फरार बदमाशों की धरपकड़ के लिए पुलिस टीमें लगातार दबिश दे रही थी। एसओजी टीम प्रभारी अमरेश कुमार त्रिपाठी और डलमऊ कोतवाल पंकज त्रिपाठी को मुखबिर से सूचना मिली थी कि फरार बदमाश कार पर सवार होकर डलमऊ से लालगंज होते हुए फतेहपुर से मध्य प्रदेश भागने की फिराक में हैं। इस सूचना पर पुलिस ने डलमऊ-लालगंज मार्ग स्थित कनहा गांव के पास घेराबंदी की। पुलिस से घिरा देख बदमाशों ने फायरिंग करना शुरू कर दिया। पुलिस ने भी जवाबी कार्रवाई करते हुए फायरिंग की।
                                              फरार ईरानी गैंग के घायल बदमाश जिन्हें पुलिस ने फर्रुखाबाद से दबोचा
एसओजी टीम प्रभारी ने बताया था कि पुलिस की फायरिंग में इरफान अली, इंजजाम अली के दाहिने पैर में गोली लगी। इस समय दोनों जौनपुर जिले के शाहगंज में रह रहे थे। घायल इरफान अली के पिता पठान अली के अलावा फतेहगढ़ के रहने वाले राहुल सक्सेना को भी पकड़ा गया था। यह सभी ईरानी गैंग के सदस्य हैं।
                                   “तहलका 24×7” पर 13 जुलाई को चली खबर
Previous articleजौनपुर : एम्बुलेंस चालक ने पेश की ईमानदारी की मिसाल
Next articleजौनपुर : रास्ते के विवाद को लेकर दो पक्षों की महिलाएं हुई आमने-सामने, वीडियो वायरल
तहलका24x7 की मुहिम..."सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏