चुनावी हिंसा ! फर्जी वोटिंग के विवाद में सपा के बूथ एजेंट की गोली मारकर हत्या

चुनावी हिंसा ! फर्जी वोटिंग के विवाद में सपा के बूथ एजेंट की गोली मारकर हत्या

# भाजपा समर्थक को भी लगी गोली, भारी तनाव के चलते अतिरिक्त पुलिस बल तैनात

# लापरवाही में थाना प्रभारी को किया गया लाइन हाजिर

लखनऊ/शाहजहांपुर।
विजय आनंद वर्मा
तहलका 24×7
                 शाहजहांपुर जिले के तिलहर विधानसभा क्षेत्र में दूसरे चरण के मतदान के अगले ही दिन मंगलवार को चकौरा गांव निवासी समाजवादी पार्टी के बूथ एजेंट सुधीर यादव की गोली मारकर हत्या कर दी गई। जबकि झगड़े में भाजपा समर्थक वीरेंद्र यादव गोली लगने से घायल हो गया, जिसे लखनऊ रेफर किया गया है। दोनों पक्षों में झगड़े ही शुरुआत मतदान के दौरान सोमवार 14 फरवरी को हुई थी। बूथ पर फर्जी वोटिंग को लेकर दोनों राजनीतिक दलों के लोग भिड़ गए थे।
आरोप है कि सोमवार रात में भी दोनों पक्षों में विवाद हुआ था। मंगलवार सुबह फिर से दोनों पक्षों के बीच कहासुनी के बाद फायरिंग और पथराव हुआ, जिसमें गोली लगने से सुधीर यादव की मौत हो गई। भाजपा समर्थक वीरेंद्र यादव घायल हो गया। घटना के बाद गांव में काफी तनावपूर्ण स्थिति है जिसके चलते अतिरिक्त पुलिस बल को तैनात किया गया है और गांव को छावनी में बदल दिया गया है। तिलहर विधानसभा क्षेत्र में सोमवार को निगोही ब्लाक के कई मतदान केंद्रों पर सपा और भाजपा समर्थकों में विवाद हुए थे। निगोही ब्लाक क्षेत्र में स्थानीय पुलिस का रवैया बेहद खराब रहा। यहां पुलिस की भूमिका पर विपक्षी दलों के समर्थक सवाल उठा रहे हैं।
पुलिस अधीक्षक नगर संजय कुमार के अनुसार मामले में लापरवाही के चलते निगोही थाना के प्रभारी दिलीप कुमार को लाइन हाजिर कर दिया गया है। घटना के बारे में बताया जा रहा है कि सोमवार को फर्जी मतदान करने आई लड़की को रोक कर 2 से 3 घंटे तक बूथ पर बैठा लिया गया था। मतदान खत्म होने के बाद भी विवाद और फायरिंग हुई थी। तब पुलिस ने किसी तरह मामले में समझौता करा दिया था। इसी बात को लेकर आज सुबह भाजपा समर्थकों ने सुधीर के घर पर हमला कर दिया।विक्रमपुर चकोरा गांव में बने पोलिंग स्टेशन पर समाजवादी पार्टी की तरफ से सुधीर सिंह बूथ एजेंट थे। भाजपा के लोगों ने एक नाबालिक को फर्जी वोट डालने के लिए भेजा था, सुधीर यादव ने इसका विरोध किया था।
                 मृतक सुधीर यादव (फाइल फोटो)
मृतक सपा कार्यकर्ता सुधीर के परिजनों का कहना है कि शाम को घर आते समय भी उसका रास्ता रोका था। वहीं एसपी एस आनंद का कहना है कि दो पक्षों के बीच पुरानी ग्राम प्रधान की रंजिश भी चली आ रही थी। एक पक्ष झंकार सिंह यादव दूसरा पक्ष सर्वेश सिंह यादव का है। सर्वेश जेल में है, दोनों पक्षों के बीच पथराव हुआ जिसमें सुधीर यादव की गोली लगने से मृत्यु हो गई और वीरेंद्र सिंह यादव गोली लगने से घायल हो गया।

लाईव विजिटर्स

27303597
Live Visitors
4502
Today Hits

Earn Money Online

Previous articleजौनपुर : हाई मास्ट लाइट खराब होने से हो रही परेशानी
Next articleजौनपुर : कुश्ती प्रतियोगिता के माध्यम से मतदाताओं को किया गया जागरूक
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏