जौनपुर : “आजीविका और रोजगार” पर कार्यशाला आयोजित

जौनपुर : “आजीविका और रोजगार” पर कार्यशाला आयोजित

जौनपुर।
विश्व प्रकाश श्रीवास्तव
तहलका 24×7
              सरजू प्रसाद शैक्षिक सामाजिक एवं सांस्कृतिक संस्था जज कॉलोनी जौनपुर में महिला सशक्तिकरण रोजगार परक प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ गरिमा श्रीवास्तव अधिवक्ता सुप्रीम कोर्ट ने दीप प्रज्वलित कर किया।उक्त अवसर पर मिशन शक्ति के तहत अमिता श्रीवास्तव और गरिमा श्रीवास्तव को सम्मानित किया गया। अध्यक्षता करते हुए जिला प्रोबेशन अधिकारी अभय कुमार ने कहा कि मिशन शक्ति के तहत अप्रैल से जून माह तक विशेष अभियान चलाया जाएगा।

जिसमें महिलाएं किस तरह प्रभावशाली सामाजिक भूमिका रहे उनके सुरक्षा शिक्षा स्वास्थ्य रोजगार हर आयाम को सशक्त बनाना शामिल होगा। मुख्य अतिथि अधिवक्ता उच्च न्यायालय अमिता श्रीवास्तव ने कहा कि रोजगार परक प्रशिक्षण से ही महिलाएं ज्यादा सशक्त होंगी। स्थाई रूप से शहरी और ग्रामीण परिवेश में आजीविका और रोजगार की बुनियादी जरूरत है। यह तभी संभव है जब महिलाओं के नेतृत्व में महिलाओं का विकास होगा। हर महिला का अधिकार है कि उसे रोजगार से जोड़ा जाए उसकी आजीविका को मजबूत आधार दिया जाए। महिलाओं को रोजगार से जोड़कर ही सशक्त राष्ट्र का निर्माण हो सकता है। बैंक प्रबंधक महेंद्र विश्वकर्मा ने बैंकिंग सिस्टम संबंधी तकनीकी ज्ञान पर प्रशिक्षण दिया।

राजीव श्रीवास्तव ने कहा कि महिलाओं को तकनीकी प्रशिक्षण देकर उनके हुनर को बढ़ाया जा सकता है। हर जनपद में हुनर हाट बनाए जाने की जरूरत है। वन डिस्टिक वन प्रोडक्ट घरेलू उद्योग और राष्ट्रीय उद्योग को बढ़ावा देने के लिए अत्याधिक श्रम को उपयोगी बनाना होगा। श्रमिकों का सम्मान करना होगा। मनरेगा में पात्र व्यक्तियों का चयन करना होगा, कन्या समृद्धि योजना, मुद्रा योजना, अटल बीमा योजना, महिला बचत योजना, कन्या सुमंगला और हैंडीक्राफ्ट जैसी अनेक योजनाएं से महिलाओं को जोड़ना होगा। इस प्रकार का प्रशिक्षण आज वक्त की जरूरत है। कोविड-19 काल से उत्पन्न बेरोजगारी को और दूर किए जाने हेतु नई प्रयास और आयाम में मेहनत की जरूरत है। कार्यक्रम का संचालन गिरीश श्रीवास्तव गिरीश ने किया।

अखिलेश पांडे राज्य प्रशिक्षक ने कहा कि हमें आजीविका के लिए मूल परंपरागत व्यवस्था की तरफ जाना होगा। बाजार की मांग का सटीक आंकलन कर रोजगार को और बढ़ाया जा सकता है। रोटी कपड़ा और मकान यह आजीविका और रोजगार से ही संभव है। कार्यक्रम आयोजक संजय उपाध्याय द्वारा सभी अतिथियों का आभार व्यक्त किया गया।

लाईव विजिटर्स

27340847
Live Visitors
Today Hits

Earn Money Online

Previous articleजौनपुर : बीएसए, बीईओ संग घर-घर जाकर बच्चों के दाखिले की कर रहे अपील
Next articleजौनपुर : सेंधमारी कर बैंक शाखा में घुसे चोर, सायरन बजते ही भागे
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏