जौनपुर : परीक्षा नियंत्रक की तहरीर पर तीसरे दिन दर्ज हुआ मुकदमा

जौनपुर : परीक्षा नियंत्रक की तहरीर पर तीसरे दिन दर्ज हुआ मुकदमा

# पूर्वांचल विश्वविद्यालय में मूल्यांकन के दौरान पकड़े गए फर्जी परीक्षक का मामला

जौनपुर।
विश्व प्रकाश श्रीवास्तव
तहलका 24×7
              पूर्वांचल विश्वविद्यालय में मूल्यांकन में पकड़े गए फर्जी परीक्षक के खिलाफ शुक्रवार को तीसरे दिन परीक्षा नियंत्रक की तहरीर पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया। विवि प्रशासन की ओर से तहरीर मिलने के बाद पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है। एफआईआर दर्ज करने के साथ ही पुलिस ने आरोपी से पूछताछ की कार्यवाई शुरू कर दी है।

विश्वविद्यालय के केंद्रीय मूल्यांकन केंद्र पर सुभाष चंद्र नामक व्यक्ति बुधवार को फर्जी तरीके से मूल्यांकन करते हुए पकड़ा गया था। मौके पर मौजूद लोगों ने उसकी पिटाई करने के बाद विश्वविद्यालय चौकी पुलिस को सौंप दिया था। चौकी पुलिस ने आरोपी को तीन दिन तक बैठाये रखा। विवि प्रशासन की ओर से तहरीर नहीं मिलने के कारण आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज नहीं हो पाया था। कुलपति प्रो. निर्मला एस मौर्य के निर्देश पर शुक्रवार को परीक्षा नियंत्रक वीएन सिंह ने तहरीर देकर मुकदमा दर्ज कराया। इस संबंध में थानाध्यक्ष अवनीश कुमार राय ने बताया कि विश्वविद्यालय प्रशासन की तरफ से तहरीर मिलने के बाद एफआईआर दर्ज कर ली गई है। आरोपी से पूछताछ की जा रही है।

# फर्जी परीक्षकों की जांच के लिए नहीं की कोई पहल

पूर्वांचल विश्वविद्यालय में चल रहे मूल्यांकन को लेकर विश्वविद्यालय प्रशासन अभी भी सक्रिय नहीं नजर आ रहा है। बदलापुर की एक शिक्षिका ने मूल्यांकन कॉर्डिनेटर पर चहेते जिनका अनुमोदन सिर्फ यूजी के लिए किया गया है, वह पीजी का मूल्यांकन कर रहे हैं। इस विषय पर मूल्यांकन कोऑर्डिनेटर जेपी दुबे से पूछे जाने पर उन्होंने बताया कि यह आरोप बेबुनियाद है। विश्वविद्यालय प्रशासन की तरफ से जो सूची उपलब्ध कराई जाती है, उसी के अनुसार सभी को मूल्यांकन के लिए कापियां आवंटित की जाती है।
Previous articleआजमगढ़ : फूलपुर के साथ हो रहा है सौतेला व्यवहार
Next articleगाजीपुर : गंगा में नहा रहे एक ही परिवार के पांच लोग डूबे
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏