जौनपुर : पांच घंटे तक कामाख्या तो.. पौने दो घंटे तक रोकी गई बेगमपुरा एक्सप्रेस

जौनपुर : पांच घंटे तक कामाख्या तो.. पौने दो घंटे तक रोकी गई बेगमपुरा एक्सप्रेस

बदलापुर।
दीपक श्रीवास्तव
तहलका 24×7
                 कंट्रोल रूम की सूचना पर रेलवे स्टेशन श्रीकृष्णा नगर के अधीक्षक मनोज कुमार यादव ने यात्रियों एवं ट्रेन की सुरक्षा के लिए रेलवे स्टेशन श्रीकृष्णा नगर पर शुक्रवार को जम्मू से चलकर वाराणसी जाने वाली ट्रेन संख्या 12238 डाउन बेगमपुरा एक्सप्रेस तथा आंबेडकरनगर से कामाख्या जाने वाली 19305 डाउन कामाख्या एक्सप्रेस को रोकवा दिया। बेगमपुरा को 10.34 तो कामाख्या को 9.15 बजे सुबह रोकी गई। रेलवे स्टेशन श्रीकृष्णानगर पर दोनों ट्रेनों का स्टापेज नहीं है। दोनों एक्सप्रेस ट्रेनों के रोकने के बाबत पूछने पर स्टेशन अधीक्षक मनोज यादव ने बताया कि कंट्रोल रूम के आदेश पर ट्रेनों को रोका गया था।

कंट्रोल रूम से यह जानकारी दी गई कि वाराणसी और जौनपुर में अग्निपथ भर्ती योजना से आक्रोशित छात्रों एवं बेरोजगारों द्वारा ट्रेनों पर आगजनी और पथराव जैसी घटना को अंजाम दिया जा रहा है। ट्रेन एवं यात्रियों की सुरक्षा के मद्देनजर बेगमपुरा एक्सप्रेस व कामाख्या एक्सप्रेस को रेलवे स्टेशन श्रीकृष्णानगर पर रोक दिया जाना उचित है। रेल कंट्रोल रूम के आदेश पर दोनों ट्रेनों को तब तक के लिए स्टेशन पर रोका गया, जब तक कंट्रोल रूम ने ट्रेन आगे चलाने की अनुमति नहीं दी। कंट्रोल रूम की अनुमति के बाद बेगमपुरा एक्सप्रेस को 12:15 पर रेलवे स्टेशन श्री कृष्णा नगर से आगे के लिए रवाना कर दिया गया। कामाख्या एक्सप्रेस को पांच घंटे के बाद यानी 2:02 पर स्टेशन अधीक्षक ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।
इस प्रकार, बेगमपुरा एक्सप्रेस को पौने 2 घंटे के बाद तथा कामाख्या एक्सप्रेस को 5 घंटे बाद रवाना किया गया। इस दौरान यात्री भूख, प्यास से बिलबिला उठे। परिवार के साथ यात्रा कर रहे यात्रियों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा। नवजात बच्चों को स्टेशन पर दूध तक नसीब नहीं हो पाया। वातानुकूलित यान के यात्री रिशु कुमार सिंह, सुशील गुप्ता, धीरज सेठ, सोनाली और सृष्टि आदि ने बताया कि हमलोगों ने वातानुकूलित यान में रिजर्वेशन करवाया है। ट्रेन रुकने के दौरान एसी का कनेक्शन ही काट दिया गया। रेल महकमा ने हम यात्रियों के साथ खिलवाड़ किया है। लोगों ने बताया कि रेल महकमा की इस लापरवाही की शिकायत रेल महकमा के उच्चाधिकारियों से की जाएगी। कंट्रोल रूम से आई सूचना के बाद स्टेशन अधीक्षक मनोज कुमार यादव ने सुरक्षा की दृष्टिकोण से बदलापुर पुलिस के सीयूजी नंबर पर फोन कर घटना के बाबत प्रभारी निरीक्षक योगेंद्र सिंह से घटना की जानकारी दी। प्रकरण को संजीदगी से लेते हुए प्रभारी निरीक्षक योगेंद्र सिंह भी भारी पुलिस बल के साथ स्टेशन पर पहुंच गए।
Previous articleजौनपुर : साईबर फर्जीवाड़ा ! जिला पंचायत अध्यक्ष के नाम से फेसबुक और इंस्टाग्रांम पर बना फर्जी पेज
Next articleजौनपुर : यूपी वर्किंग जर्नलिस्ट यूनियन ने आयोजित की शोकसभा
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏